सीएम भूपेश का पुतला फूंकने जा रहे जोगी कांग्रेसियों की पुलिस से हुई झूमाझटकी, इस वजह से है नाराजगी

सीएम भूपेश का पुतला फूंकने जा रहे जोगी कांग्रेसियों की पुलिस से हुई झूमाझटकी, इस वजह से है नाराजगी
Jogi congressmen

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Sep, 02 2019 09:10:59 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

Ambikapur politics: अजीत जोगी के खिलाफ जुर्म दर्ज होने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कार्यकर्ताओं ने सीएम के खिलाफ जमकर किया प्रदर्शन

अंबिकापुर. जकांछ सुप्रीमो अजीत जोगी के खिलाफ प्रदेश सरकार द्वारा जुर्म दर्ज कराए जाने के खिलाफ सोमवार को पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने संभाग मुख्यालय अंबिकापुर में विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस की सख्ती की वजह से उनके द्वारा सीएम का पुतला दहन नहीं किया जा सका।

इस दौरान उनकी पुलिस से झूमाझटकी भी हुई। वहीं नाराज जकांछ कार्यकर्ता गांधी चौक स्थित डाटा सेंटर के सामने ही धरने पर बैठ गए, बाद में पुलिस ने उन्हें वहां से भी हटा दिया।

 

यह भी पढ़े : कैबिनेट मंत्री टीएस बोले- अमित जोगी का अमेरिका में हुआ जन्म, अजीत जोगी की जाति को लेकर फिर साधा निशाना


छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री पर फर्जी छानबीन समिति गठित कर सभी नियम-कानून को ताक पर रखकर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराए जाने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

 

सीएम भूपेश का पुतला फूंकने जा रहे जोगी कांग्रेसियों की पुलिस से हुई झूमाझटकी, इस वजह से है नाराजगी

सोमवार को विरोध प्रदर्शन करते हुए जकांछ कार्यकर्ताओं ने गांधी चौक पर पुतला दहन करने की तैयारी की थी। सुबह से ही शहर के सभी चौराहों पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद था। पुतला दहन करने पहुंचे जकांछ कार्यकर्ता और पुलिस के मध्य जमकर झूमाझटकी हुई।

इसकी वजह से वे पुतला दहन नहीं कर सके और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके बाद सभी कार्यकर्ता गांधी चौक पर ही डाटा सेंटर के सामने धरने पर बैठ गए।

 

यह भी पढ़े : अजीत जोगी बोले- भूपेश हमेशा की तरह कच्ची गोली खेल रहे हैं

 

जहां से पुलिस ने बलपूर्वक उन्हें हटाते हुए गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान अभिषेक श्रीवास्तव, संजीव सेठी, विक्की समद्दार, आमिर सोहैल, संध्या सोनी, राजन सिन्हा, साजिद अली, एजाज कुरैशी, आजाद, अनीश, मुकेश गुप्ता, उपेंन्द्र पाण्डेय सहित अन्य उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री का स्पष्ट इशारा अजीत जोगी की ओर था

विरोध प्रदर्शन करने के दौरान युवा जनता कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष दानिश रफिक ने कहा कि 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने फर्जी प्रमाण-पत्र के समस्त प्रकरण की जांच कर खारिज करने हेतु एक महीने की समय सीमा तय की थी। उन्होंने कहा था कि फर्जी प्रमाण पत्र वालों की राजनीति समाप्त कर देंगे। उनका स्पष्ट इशारा अजीत जोगी की ओर था।

 

यह भी पढ़े : अमित जोगी ने कहा- छत्तीसगढ़ में बन गई है भूपेश प्राइवेट लिमिटेड कंपनी


प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत का भी नहीं किया पालन
फर्जी छानबीन समिति ने अजीत जोगी की समस्त आपत्तियों को खारिज करते हुए मात्र 14 दिनों में ही अपना एकतरफा फैसला सुना दिया। छानबीन समिति उच्च न्यायालय के आदेशों की अवहेलना के साथ-साथ प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत का भी पालन नहीं किया है। सरगुजा जिला अध्यक्ष देवेश प्रताप सिंह ने कहा कि भूपेश बघेल के साथ प्रदेश की जनता न्याय करेगी।

 

सरगुजा जिले की राजनीति से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Political News

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned