अब तक सिर्फ सुना होगा, Video में देखें तातापानी के पानी में कैसे उबल जाते हैं अंडे

अब तक सिर्फ सुना होगा, Video में देखें तातापानी के पानी में कैसे उबल जाते हैं अंडे

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Aug, 05 2017 09:00:00 PM (IST) Ambikapur, Chhattisgarh

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में गर्म पानी निकलने के कारण विख्यात है तातापानी, पानी में उबल जाते हैं अंडे, पक जाता है चावल

अंबिकापुर. इसे प्रकृति का चमत्कार ही कहा जा सकता है कि जमीन के भीतर से अपने आप गर्म पानी निकले। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के तातापानी में एक स्थल विशेष में वर्षभर गर्म पानी निकलता है। यहां के पानी में यदि आप अंडे डाले तो वह उबल जाता है। इसके अलावा यदि किसी कपड़े में चावल बांधकर इस पानी में डाले तो वह भी पक जाता है। यहां से निकलने वाले गर्म पानी को देखने व महसूस करने देश के कोने-कोने से लोग आते हैं।


अब तक आपने तातापानी में के गर्म पानी में अंडे उबलने या चावल पकने की बात सुनी होगी। आज हम आपको वीडियो में दिखाते हैं कि यहां के पानी के कैसे अंडे उबल जाते हैं। कुछ दिन पूर्व बलरामपुर क्षेत्र के कुछ युवा यहां अंडा लेकर पहुंचे। उन्होंने प्रयोग के तौर पर पारदर्शी प्लास्टिक में 2 अंडे रखकर इसे तातापानी स्थित कुंडनुमा जगह पर स्टोर किए गए पानी में डाला। 10 मिनट इसी स्थिति में रखने के बाद अंडे उबल गए थे। वैज्ञानिकों का कहना है कि गंधक की मात्रा अधिक होने के कारण ही यहां का पानी उबलता है।


चर्म रोग होते हैं ठीक!
तातापानी के स्थानीय निवासियों का कहना है कि यहां के गर्म पानी से लगातार नहाने से चर्म रोग भी ठीक हो जाते हैं। वहीं यहां का कीचड़ भी चर्मरोग में फायदेमंद है। इस बात को दूर-दराज क्षेत्रों से आने वाले लोग आजमा चुके हैं।


ये है मान्यता व वैज्ञानिकों का कहना
तातापानी गर्म जलस्रोत निकलने के कारण विख्यात है। गर्म पानी निकलने के कारण ही इसका नाम तातापानी पड़ा। यहां प्रतिवर्ष 14 जनवरी मकर संक्रांति पर विशाल मेला लगता है। ऐसी मान्यता है कि राजसी जमाने से ही इस इलाके में शैव संप्रदाय का वर्चस्व रहा है। भगवान शिव को मानने वाले लोग इस क्षेत्र में ज्यादा है। इस कारण मेले का महत्व भी इस क्षेत्र में काफी ज्यादा है। यहां स्थित भगवान शिव की मूर्ति भी काफी प्राचीन है।

 

गांव में ऐसी दंत कथा प्रचलित है कि हजारों वर्ष पूर्व यहां भगवान शिव व अन्य देवी-देवता पहुंचे थे। उन्होंने ही यहां गर्म जल का कुंड छोड़ दिया था। इस कारण यहां से गर्म पानी निकलता है। वहीं वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया है कि तातापानी के इस स्थान पर काफी मात्रा में गंधक है, इस कारण यहां से गर्म पानी निकलता है। गर्म जल का रहस्य जानने देश-विदेश के वैज्ञानिक भी यहां आ चुके हैं। तातापानी में निकलने वाला गर्म पानी देश के कोने-कोने में प्रचलित है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned