जंगल में ग्रामीण को देख टूट पड़े 2 भालू, पटक कर गड़ा दिए पैने नाखून और दांत, मरा समझकर छोड़ा फिर...

जंगल में ग्रामीण को देख टूट पड़े 2 भालू, पटक कर गड़ा दिए पैने नाखून और दांत, मरा समझकर छोड़ा फिर...

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Aug, 13 2019 07:51:24 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

मवेशी चराने गए युवक की पड़ी नजर तो घरवालों को दी सूचना, मेडिकल कॉलेज अस्पताल में गंभीर स्थिति में चल रहा इलाज

अंबिकापुर. जंगल में लकड़ी लेने गए ग्रामीण पर रविवार की सुबह 2 भालुओं ने हमला (Bear attack) कर दिया। भालुओं के हमले में ग्रामीण गंभीर रूप से जख्मी हो गया। भालू उसे मरा हुआ समझकर चले गए थे।

गांव के एक युवक की सूचना पर परिजन ने उसे उदयपुर अस्पताल में भर्ती कराया था, यहां चिकित्सकों ने उसे बेहतर इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रेफर कर दिया है। इसके बाद उसका यहां इलाज जारी है।

 

ये भी पढ़ें : खुले में शौच करने गया था किशोर, अचानक खून से लथपथ पहुंचा घर, शरीर पर थे दांत और पैने नाखूनों के निशान


सरगुजा जिले के उदयपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बासेन निवासी 50 वर्षीय चैन साय अगरिया पिता सबल साय रविवार की सुबह जंगल में लकड़ी लेने गया था। वहां झाड़ी से निकल कर दो भालुओं ने उस पर अचानक हमला (bear attack) कर दिया। भालुओं ने उसे जमीन पर पटक दिया और नाखून से नोचने लगे। इससे वह बेहोश हो गया।

 

ये भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ के शिमला से घर लौट रहे ग्रामीण को भालू ने मार डाला, शरीर पर बने थे इस तरह के निशान

 

भालुओं (Bear attack) ने उसे मृत समझ और वहां से भाग गए। गांव के ही मवेशी चरा रहे युवक ने उसे बेहोशी की हालत में पड़ा देखा तो घटना की जानकारी उसके परिजन को दी। सूचना पर परिजन वहां पहुंचे और उसे उठा कर घर लाए।

परिजन ने उसे इलाज के लिए उदयपुर अस्पताल में भर्ती करवाया। यहां चिकित्सकों ने उसकी स्थिति को गंभीर देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया।

 

ये भी पढ़ें : भालू ने हमला किया तो बचपन में पढ़ी वो कहानी आ गई याद, फिर भालू मरा समझकर चला गया और बच गई जान


रेंजर पहुंचे अस्पताल
उदयपुर वन परिक्षेत्र के रेंजर मिठू राम राजवाड़े घटना की जानकारी मिलने पर मंगलवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे। यहां भालू के हमले (Bear attack) में घायल चैन साय की स्थिति की जानकारी ली और सहायता राशि दी। रेंजर ने परिजन को बताया कि उसके इलाज का खर्च वन विभाग द्वारा वहन किया जाएगा।

 

सरगुजा जिले की क्राइम से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in ambikapur

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned