नक्सली हमले में शहीद जवान रमाशंकर का पार्थिव शरीर पहुंचा सरगुजा, पत्नी बोलीं- नक्सलियों को मिले कठोर से कठोर सजा

Bijapur Naxal Attack: 3 मार्च को बीजापुर में नक्सली हमले (Naxal attack) में 22 जवान हुए थे शहीद, सरगुजा जिले के लखनपुर, अमदला निवासी एसटीएफ जवान (STF jawan's) था रमाशंकर

By: rampravesh vishwakarma

Published: 05 Apr 2021, 04:16 PM IST

अंबिकापुर. बीजापुर में & मार्च को नक्सली हमले में 22 जवान शहीद (Martyr) हो गए थे। इसमें सरगुजा जिले के लखनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अमदला निवासी एसटीएफ जवान रमाशंकर सिंह भी शामिल थे। सोमवार की दोपहर करीब &.&0 बजे शहीद रमाशंकर (Martyr Ramashankar) का पार्थिव शरीर हेलीकॉप्टर से दरिमा एयरपोर्ट (Darima Airport) पर पहुंचा।

यहां से सड़क मार्ग से पार्थिव शरीर उनके गृहग्राम ले जाया गया। शहीद रमाशंकर (Martyr Ramashankar) की पत्नी ने कहा कि जैसा मेरे साथ हुआ है वह किसी अन्य की बहू-बेटियों के साथ न हो। ऐसा कृत्य करने वाले नक्सलियों को कठोर से कठोर सजा मिलनी चाहिए।


गौरतलब है कि बीजापुर के तररेम में 3 मार्च को सर्चिग पर निकले जवानों को नक्सलियों (Naxalites) ने एंबुश में फंसाकर हमला कर दिया था। दोनों ओर से घंटों चली मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए थे, वहीं महिला नक्सली समेत कुछ नक्सली भी मारे गए हैं।

नक्सली हमले में शहीद जवान रमाशंकर का पार्थिव शरीर पहुंचा सरगुजा, पत्नी बोलीं- नक्सलियों को मिले कठोर से कठोर सजा

इस हमले में सरगुजा जिले के लखनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अमदला, तुरना निवासी एसटीएफ जवान रमाशंकर सिंह भी शहीद (Martyr) हो गए थे। सोमवार की दोपहर हेलीकॉप्टर से उनका तिरंगे में लिपटा पार्थिव शरीर मां महामाया एयरपोर्ट दरिमा पहुंचा। यहां पुलिस के आला अधिकारी भी पहुंचे थे।

यहां से सड़क मार्ग से पार्थिव शव उनके गृहग्राम ले जाया गया। यहां गार्ड ऑफ ऑनर के बाद कुछ ही देर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।


फोटो लेकर राह तकते रहे माता-पिता व पत्नी
नक्सली हमले में बेटे के शहीद होने की खबर जैसे ही गांव में पहुंची, वहां कोहराम मच गया। माता-पिता अपने शहीद बेटे व पत्नी शहीद पति का फोटो लेकर उनका पार्थिव शरीर घर आने की राह तकते रहे। जैसे ही शव घर पर पहुंचा, उनके रोने का ठिकाना न रहा।

नक्सली हमले में शहीद जवान रमाशंकर का पार्थिव शरीर पहुंचा सरगुजा, पत्नी बोलीं- नक्सलियों को मिले कठोर से कठोर सजा

पत्नी ने मांगी कठोर से कठोर सजा
शहीद रमाशंकर की पत्नी ने शासन-प्रशासन से उक्त कृत्य करने वाले नक्सलियों के लिए कठोर से कठोर सजा की मांग की है। उन्होंने कहा कि जैसा मेरे साथ हुआ है, वैसा किसी अन्य की बहू-बेटियों के साथ न हो।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned