कोतवाली के दरोगा ने 10 हजार की रिश्वत लेकर लिखी एफआईआर, चोरी की धारा भी नहीं जोड़ी

Bribe: पड़ोसी ने अपनी पत्नी व बेटे के साथ मिलकर महिला से की थी मारपीट, पेटी में रखे 30 हजार रुपए भी कर ली थी चोरी, चोरी की धारा (Theft act) नहीं जोडऩे पर मिल गई जमानत

By: rampravesh vishwakarma

Published: 22 Oct 2020, 10:22 PM IST

अंबिकापुर. एक महिला ने कोतवाली (Kotwali) के एक जमादार व दरोगा पर 10 हजार रुपए रिश्वत लेकर एफआईआर दर्ज करने का आरोप लगाई है। महिला किराए के मकान में खरसिया चौक के पास रहती है।

12 सितंबर की रात को पड़ोस में रहने वाला किराएदार ने अपनी पत्नी व बेटे के साथ मिलकर उसके साथ मारपीट की थी और पेटी में रखे 30 हजार रुपए चोरी (Theft) कर लिए थे। महिला का आरोप है कि 10 हजार रुपए लेने के बावजूद भी आरोपियों पर चोरी की धारा नहीं लगाई, इस कारण आरोपियों को जमानत मिल गई।


सीतापुर निवासी कलावती सोनी पति विजय सोनी शहर के खरसिया चौक के पास किराए के मकान में रहकर किराए में वाहन चलवाने का काम करती है। 12 सितंबर की रात को पड़ोस में रहने वाला सहदेव शराब के नशे किसी बात को लेकर कलावती के साथ गाली-गलौज करने लगा।

Read More: आरक्षक की कॉल डिटेल सामने आने के बाद एसपी भी रह गए हैरान, तत्काल किया बर्खास्त, 4 पुलिसकर्मी लाइन अटैच

इस दौरान सहदेव की पत्नी व बेटे ने भी उसके साथ गाली गलौज करते हुए मारपीट करने लगे। इस बात की जानकारी मकान मालिक को दी तो वह भी उसके साथ गाली-गलौज करने लगा। इस दौरान मकान मालकिन कलावती का सामन घर से बाहर फेंकने लगी। इसके बाद कलावती ने कोतवाली (Ambikapur Kotwali) पहुंच कर मारपीट किए जाने की शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस ने जख्मी महिला का मेडिकल (Medical) कराने के बाद उसे घर भेज दिया और सुबह आकर एफआईआर दर्ज कराने की बात की। महिला जब घर पहुंची तो घर में रखी पेटी दूसरे तरफ फेंकी हुई थी और उसमें रखे 30 हजार रुपए नहीं थे, जो उसने वाहन का किस्त पटाने के लिए रखे थे। महिला ने चोरी की भी जानकारी मकान मालिक को दी थी।

इसके बाद महिला 13 सितंबर की सुबह मारपीट किए जाने व रुपए चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराने कोतवाली पहुंची। महिला का आरोप है कि रिपोर्ट दर्ज करने के लिए कोतवाली के एक जमादार व दरोगा ने १० हजार रुपए लेने के बाद एफआईआर दर्ज की।

Read More: इस लापरवाही पर डीजीपी ने यहां के एसडीओपी और टीआई को किया सस्पेंड, पुलिस विभाग में मचा हडक़ंप


रुपए लेने के बावजूद भी चोरी का जिक्र नहीं
महिला पढ़ी-लिखी नहीं होने के कारण उस समय एफआईआर नहीं पढ़ सकी। जब आरोपियों को जमानत मिल गई तो महिला को २२ अक्टूबर को कोर्ट जाकर पता चला कि एफआईआर में चोरी का जिक्र ही नहीं है। इसके बाद महिला ने कोतवाली पहुंच कर पुलिस पर रुपए लेने का आरोप लगाना शुरु कर दिया।


जांच के बाद करेंगे कार्रवाई
अभी इस तरह का मामला मेरे संज्ञान में नहीं आया है। अगर ऐसा है तो मामले की जांच कराई जाएगी और दोषियों पर तत्काल कठोर कार्रवाई की जाएगी।
टीआर कोशिमा, एसपी, सरगुजा

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned