इस विश्वविद्यालय की गलती से कोरोना काल में बीएससी के सैकड़ों छात्र-छात्राएं फेल, कुलसचिव ने कही ये बात

BSc students failed: विश्वविद्यालय प्रबंधन द्वारा हाल ही में जारी किया गया है परीक्षा परिणाम (Results), जनरल प्रमोशन (General promotion) देने की बजाय घोषित किया फेल

By: rampravesh vishwakarma

Published: 26 Nov 2020, 10:14 PM IST

अंबिकापुर. संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय द्वारा बीएससी (BSc) का परिणाम जारी होने के बाद फेल व सप्लीमेंट्री घोषित किये गए छात्रों में नाराजगी फैल गई।

इसके बाद एनएसयूआई के साथ विश्वविद्यालय पहुंचे छात्रों ने इस संबंध में कुलसचिव को ज्ञापन सौंपकर नाराजगी जताई। कुलसचिव ने इसमें विवि की गलती मानी और कुलपति (Vice chancellor) से चर्चा के बाद सभी छात्रों का ेपास करने का भरोसा दिलाया।


दरअसल जब कोरोना को लेकर लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की गई थी तब बीएससी सांइस के छात्रों की तीन भागों में होने वाली कैमेस्ट्री (Chemistry) की परीक्षा के मात्र एक भाग की ही परीक्षा हो पाई थी जिसके बाद उक्त उत्तर-पुस्तिका को जांच कर तथा शेष के लिए पिछले वर्ष के परीक्षा परिणाम के आधार पर छात्रों को अंक आवंटित कर उन्हें जनरल प्रमोशन देते हुए अगली कक्षा में भेजा जाना था।

विवि द्वारा हाल ही में जारी किये गए परीक्षा परिणाम में काफी संख्या में बीएससी के छात्रों को जनरल प्रमोशन (General promotion) देने की बजाय फेल घोषित कर दिया गया। फेल घोषित किये गए छात्रों में ज्यादातर वे छात्र हैं जिन्हें पिछले वर्ष किसी ना किसी विषय में ग्रेस देकर पास किया गया था।

इस बार भी छात्रों को उन विषयों में उतने ही नम्बर दिये गए, जितने उन्होंने परीक्षा में पाए थे परन्तु इस बार उसमे ग्रेस को नहीं जोड़ा गया, जिससे कि विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले महाविद्यालयों में अध्ययनरत करीब 700 छात्र इस बार किसी न किसी विषय में अनुतीर्ण घोषित कर दिये गए हैं।


उत्तीर्ण करने का दिलाया भरोसा
इसकी जानकारी मिलने पर एनएसयूआई (NSUI) के विधानसभा अध्यक्ष आशीष जायसवाल के साथ छात्रों ने विश्वविद्यालय पहुंचकर इसपर नाराजगी जताते हुए कुलसचिव विनोद एक्का को ज्ञापन सौंपा। कुलसचिव ने छात्रों की बात को सुना तथा विश्वविद्यालय की गलती को मानते हुए इसे लेकर कुलपति (Vice Chancellor) से चर्चा कर सभी छात्रों को उत्तीर्ण करने का भरोसा दिलाया।


विश्वविद्यालय ने मानी गलती
आशीष जायसवाल ने बताया कि विश्वविद्यालय (University) ने इस मामले में अपनी गलती मान ली है तथा जल्द ही नये सिरे से सभी अनुत्तीर्ण छात्रों का रिजल्ट सुधार कर जारी करने की बात कही है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned