छठ व्रतियों ने किया खरना, आज अस्त होते भगवान सूर्य को देंगे अघ्र्य, छठ घाटों के अलावा घरों में ही पूजा

Chhath puja: व्रतियों द्वारा खीर (Kheer) का प्रसाद ग्रहण करने के बाद शुरु हो गया 36 घंटे का निर्जला व्रत, कोरोना के कारण अंबिकापुर के छठ घाटों (Chhath ghats) पर सामूहिक आयोजन पर प्रशासन (Administration) ने लगा रखी है रोक

By: rampravesh vishwakarma

Published: 20 Nov 2020, 02:49 PM IST

अंबिकापुर. लोक आस्था के चार दिवसीय महापर्व के दूसरे दिन गुरुवार को छठ व्रतियों ने खरना किया। इस दौरान खीर का प्रसाद घरों में बनाया गया। खरना के बाद व्रतियों का 36 घंटे के निर्जला उपवास (Fasting) शुरू हो गया।

आज शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अघ्र्य (Arghya) दिया जाएगा। वहीं कल सुबह उगते सूर्य (Rising son) को अघ्र्य देने के साथ ही छठ पर्व का समापन होगा।


कोरोना काल (Corona era) के कारण छठ घाटों (Chhath ghat) पर सामूहिक पूजा को लेकर जिला प्रशासन द्वारा रोक लगाई गई है। हालांकि आयोजन समितियों द्वारा नियम व शुद्धता को लेकर शंकर घाट (Shankar ghat) स्थित छठ घाट की साफ-सफाई करा दी गई है, लेकिन कोई विशेष तैयारी नहीं की गई है। इसके बावजूद शाम को छठ पूजा करने वाले श्रद्धालु वहां पहुंचे।

छठ व्रतियों ने किया खरना, आज अस्त होते भगवान सूर्य को देंगे अघ्र्य, छठ घाटों के अलावा घरों में ही पूजा

व्रती अपनी सुविधा के अनुसार छठ घाट या घरों में दूरी बनाकर पूजा अर्चना (Worshiping) कर रहे हैं। गुरुवार को खरना को लेकर सुबह से ही तैयारी चल रही थी। दोपहर बाद छठ व्रती नदियों, तालाबों और घरों में कुएं पर स्नान करने के बाद खरना के लिए प्रसाद बनाने में जुट गये।


खीर बनाने शुद्धता का रखा पूरा ध्यान
खीर प्रसाद बनाने के लिए नदियों और कुएं के पानी इस्तेमाल किया। नये चूल्हे पर आम की लकड़ी को जलावन में इस्तेमाल करते हुए पीतल के बर्तन में खरना के लिए प्रसाद बनाया गया। प्रसाद बनाने के दौरान छठ व्रतियों के साथ ही घर की अन्य महिलाओं द्वारा छठ गीत गाये जाते रहे।

प्रसाद के लिए खीर व रोटी पकाई गई। शाम ढलते ही छठ व्रतियों ने छठ गीतों के बीच प्रसाद ग्रहण किया। वहीं शुक्रवार की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अघ्र्य देकर छठव्रती परिवार की सुख-समृद्धि की कामना करेंगे।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned