See Video : OMG! छत्तीसगढ़ के शिमला में पकड़ाए गांजे के 2 खेत, देखकर पुलिस के उड़ गए होश

मैनपाट के ग्राम सुपलगा के गंगझर तथा दरिमा थानांतर्गत ग्राम करम्हा के साहीडांड़ में हो रही थी गांजे की खेती, 2 गिरफ्तार

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 03 Oct 2017, 02:13 PM IST

अंबिकापुर/मैनपाट. छत्तीसगढ़ के शिमला के नाम से विख्यात मैनपाट अब तक आलू व टाऊ की खेती के लिए जाना जाता था। लेकिन अब यहां गांजे की खेती भी होने लगी है। क्राइम ब्रांच व पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि यहां गांजे की खेती हो रही है। सूचना मिलते ही पुलिस ने सोमवार की शाम ग्राम सुपलगा के गंगझर तथा दरिमा थानांतर्गत ग्राम करम्हा के साहीडांड़ में छापा मारा।

इन दोनों जगहों पर गांजे की खेती देख पुलिस के होश उड़ गए। पुलिस के आने की भनक भी दोनों स्थानों के आरोपियों को लग गई थी, इसलिए उन्होंने गांजे के पौधे कटवाकर खेत में छोड़ दिए थे। पुलिस ने दोनों खेतों से करीब सवा 4 क्विंटल गांजे के पौधे जब्त किए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया। उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है।


क्राइम ब्रांच व मैनपाट पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम सुपलगा के गंगझर में विश्वनाथ कुजूर पिता घूरसाय कुजूर 40 वर्ष द्वारा गांजे की खेती की जा रही है। सूचना मिलते ही सोमवार की शाम सीतापुर एसडीओपी ऐश्वर्य चंद्राकर के नेतृत्व में मैनपाट पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने देखा कि गांजे के 5-6 फीट के 465 पौधे काटकर खेत में रखे गए थे। उन्होंने सभी पौधों को जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

वहीं दरिमा थानांतर्गत ग्राम करम्हा के साहीडांड़ निवासी कुंवर साय कोरवा पिता विश्वास साय 35 वर्ष द्वारा भी गांजे की खेती किए जाने की सूचना पुलिस को मिली थी। टीम ने सोमवार की शाम वहां भी छापा मारा। सूत्रों के अनुसार यहां से पुलिस ने करीब 3 क्विंटल गांजे के पौधे जब्त किए।

पुलिस ने आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की। कार्रवाई में मैनपाट थाना प्रभारी श्यामलाल गढ़ेवाल, प्रधान आरक्षक रामबचन सिंह, आरक्षक देवदत्त सिंह तथा क्राइम ब्रांच प्रभारी एएसआई भूपेश सिंह, प्रधान आरक्षक रामअवध सिंह, धीरज गुप्ता, उपेंद्र सिंह, विकास सिंह, भोजराज पासवान, राकेश शर्मा, बृजेश राय, दशरथ राजवाड़े, विवेक राय सहित अन्य शामिल थे।


6 डिसमिल जमीन पर की थी खेती
गंगझर में आरोपी विश्वनाथ ने 1 डिसमिल जमीन पर गांजे की खेती की थी। सभी पौधे 5-6 फीट के हो चुके थे। यहां से 465 पौधे पुलिस ने जब्त किए। जबकि करम्हा के साहीडांड़ में आरोपी कुंवर साय ने 5 डिसमिल जमीन में खेती की थी। सूत्रों के अनुसार यहां से करीब 3 क्विंटल पौधे जब्त किए गए।


आरोपियों को लग चुकी थी भनक
पुलिस की कार्रवाई से पूर्व ही आरोपियों को इसकी भनक लग चुकी थी। खबर लगते ही आरोपियों ने गांजे के पौधे काट दिए थे। वे इसे छिपाने में कामयाब नहीं हो सके। पुलिस जब दोनों जगहों पर खेतों में पहुंची तो गांजे के कटे हुए पौधे वहां पड़े थे।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned