कलक्टर ने दी चेतावनी, कहा- धान की रिसायकलिंग किसी भी हालत में नहीं की जाएगी बर्दाश्त, पकड़े गए तो...

अधिकारियों को कहा कि टीम गठित कर सहकारी समिति व मिलर्स के दस्तावेजों की नियमित करें जांच

By: rampravesh vishwakarma

Published: 07 Jan 2019, 06:58 PM IST

अम्बिकापुर। कलक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने सोमवार को अपने कक्ष में धान खरीदी की समीक्षा की। उन्होंने समितिवार धान खरीदी एवं मिलर्स द्वारा धान के उठाव की समीक्षा करते हुए कहा कि शासन के निर्देशानुसार धान के बढ़े हुये समर्थन मूल्य का लाभ वास्तविक किसानों को ही मिले इसके लिए राजस्व, खाद्य तथा सहकारिता विभाग के अधिकारी आपसी समन्वय स्थापित कर आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें।

कलक्टर ने कहा कि धान की रिसायकलिंग को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा तथा रिसायकलिंग करते हुये पाये जाने पर संबंधित समिति प्रबंधकों एवं मिलर्स पर एफआइआर दर्ज करने की कार्यवाही भी की जाएगी।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे टीम गठित कर समिति एवं मिलर्स के दस्तावेजों की नियमित जांच करें तथा किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पाये जाने पर तत्काल सूचित करें, ताकि शीघ्रता से आवश्यक कार्रवाई हो सके।


कलक्टर कार्यालय में कलक्टर डॉ. सरांश मित्तर ने धान खरीदी में अब तक हुई प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि मिलर्स अपने फायदे के लिए अन्य प्रान्तों से धान की खरीदी कर यहां जिले के समितियों में रिसायकलिंग के जरिए बेच सकते हैं।

उन्होंने रिसायकलिंग को रोकने के लिए खाद्य विभाग तथा विद्युत विभाग के कर्मचारियों की संयुक्त टीम गठित कर प्रत्येक मिलर की मिलिंग की जांच कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले तीन महीने में मिलर्स द्वारा मिलिंग कार्य हेतु किये गये विद्युत खपत की जानकारी के साथ ही समितियों से परिवहन किये गये धान की मात्रा एवं बारदाने की जानकारी अवश्य प्राप्त करें।

कलक्टर ने खाद्य विभाग एवं जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के नोडल अधिकारी को जिले के पंजीकृत किसानों की सूची अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को उपलब्ध कराने कहा, ताकि वे अपने अमले भेजकर पंजीकृत किसानों की जमीन का रकबा एवं फसल उत्पादन की जानकारी सत्यापित कर सकें।

उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से कहा कि किसानों की जमीन के रकबे का सत्यापन करने जाने वाले राजस्व निरीक्षक एवं पटवारियों को यह निर्देशित करें कि वे किसानों को समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के संबंध में शासन की मंशा से अवगत कराएं तथा यह भी बताएं कि अवैध तरीके से धान की बिक्री करने पर उन्हें सजा भी हो सकती है।

बैठक में अपर कलक्टर चन्द्रकांता ध्रुव, एसडीएम अजय त्रिपाठी, प्रभाकर पाण्डेय एवं अतुल शेट्टे, खाद्य अधिकारी रविन्द्र सोनी, सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी पीएस. परिहार सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।


संयुक्त टीम करेगी जांच
कलक्टर ने अम्बिकापुर के नमनाकला एवं मेण्ड्राकला समिति, लखनपुर के जमगला, अमेरा एवं कुन्नी समिति तथा सीतापुर तहसील के प्रतापगढ़ एवं सीतापुर समिति में समर्थन मूल्य पर धान की अधिक खरीदी के संबंध में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं खाद्य अधिकारी को संयुक्त टीम गठित कर आज ही जांच कराने के निर्देश दिए।

इसके साथ ही सीतापुर एवं प्रतापगढ़ समिति के आस-पास के मिलरों के यहां विद्युत विभाग की टीम भेजकर विद्युत खपत की जांच कराने के निर्देश भी दिए। कलक्टर ने स्पष्ट किया कि जो मिलर शासन के नियमानुसार मिलिंग का कार्य करेंगे ऐसे मिलर्स का प्रशासन पूरा सहयोग करेगा, लेकिन गड़बड़ी की शिकायत अथवा नियम विरूद्ध प्रक्रिया अपनाये जाने पर संबंधित मिलर के विरूद्ध सख्त कार्रवाईकी जाएगी।


पीडीएस चावल पर रखें नजर
कलक्टर ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत शासकीय उचित मूल्य की दुकानों तक ट्रान्सपोट्र्स द्वारा परिवहन किये जाने वाले चावलों पर निगरानी रखने के लिए नागरिक आपूर्ति निगम के गोदामों से चावल की लोडिंग दिन में ही कराने के निर्देश दिए हैं।

इसके लिए एक निश्चित समय का निर्धारण करने और इसी समयावधि के भीतर ही उन्हें राशन दुकानों में चावल परिवहन करने के निर्देश जारी करने कहा गया है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned