राज्यसभा सांसद नेताम का भूपेश सरकार पर हमला, कहा- कोरोना महामारी में भी कर रहे राजनीति, जेसीबी से करा रहे मनरेगा का काम

Corona crisis: राज्यसभा सांसद नेताम ने केंद्र सरकार द्वारा घोषित २० लाख करोड़ के पैकेज की दी विस्तृत जानकारी, कहा- जेसीबी से मनरेगा का काम करा रहे कांग्रेसी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 16 May 2020, 12:50 PM IST

अंबिकापुर. केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपए के व्यापक कोरोना पैकेज की घोषणा को लेकर शुक्रवार को राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने विडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से पत्रकारों से चर्चा की। उन्होंने वित्त मंत्री द्वारा घोषित सभी योजनाओं में अलग-अलग आबंटन की जानकारी दी और राज्य सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि वे इस महामारी में भी राजनीति कर रहे हैं।


राज्य सभा सांसद रामविचार नेताम ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा केंद्र सरकार द्वारा जो 20 लाख करोड़ रुपए का पैकेज घोषित किया गया है उसमें किसानों को आसान कर्ज उपलब्ध कराने के लिए 2 लाख करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इसका फायदा 2.5 करोड़ किसान उठा पाएंगे।

नाबार्ड के माध्यम से भी किसानों के लिए 30 हजार करोड़ के आपातकालीन फंड की व्यवस्था होगी। इसका उपयोग किसान खरीफ की फसल के लिए करसकेंगे। इसी तरह रोजगार को बढ़ावा देने के लिए ६ हजार करोड़ रुपए का प्रावधान कैंपा योजना के माध्यम से किया गया है।

प्रवासी मजदूरों के राशन की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से अगले दो महीने तक इन्हें मुफ्त आनाज की व्यवस्था की गई है। वहीं अब देश में जल्द अब एक नेशन, एक राशन के तहत लोगों को राशन का वितरण किया जाएगा। हाउसिंग सेक्टर और मध्यम वर्ग के लिए घर खरीदना आसान बनाने के लिए क्रेडिट लिक्वड सब्सिडी स्कीम को 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया गया है।


मनरेगा के काम में भारी गड़बड़ी
रामविचार नेताम ने कहा कि मनरेगा के तहत जो आबंटन आ रहा है, उसमें श्रमिकों की जगह कांग्रेसी नेता काम कर रहे हैं और खुद ही भुगतान के लिए सूची भर रहे हैं। जेसीबी व ट्रैक्टर से काम करवा रहे हैं। ऐसे में यह श्रमिकों के साथ अपराध कर रहे हैं।


कांग्रेस कर रही है राजनीति
रामविचार नेताम से जब यह पूछा गया कि राज्य की कांग्रेस सरकार कह रही है कि केंद्र बजट नहीं दे रही है। इस पर उन्होंने कहा कि यह राजनीति का समय नहीं है, लेकिन राज्य सरकार की यह जिम्मेदारी होनी चाहिए कि वे सही चीज बताएं। वे अपना घर बचाने के लिए केंद्र पर आरोप लगा रहे हैं।

राज्य सरकार को कई हजार करोड़ का काम आबंटित किया गया है। छत्तीसगढ़ में केंद्र द्वारा आबंटित राशि का अच्छे से उपयोग करते तो स्थिति बेहतर होती।


शराबखोरी हो बंद, कोरोना योद्धाओं को दें विशेष पैकेज
रामविचार नेताम ने कहा कि प्रदेश में शराबखोरी बंद हो व कोरोना के बीच अपनी जान की परवाह ना कर सेवा देने वाले चिकित्सक व हेल्थ वर्कर के लिए राज्य सरकार विशेष पैकेज दे। प्रदेश में शराब की दुकानों पर जो भीड़ दिखाई दे रही है उससे कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने घोषणा पत्र में भी शराबबंदी को शामिल किया था। उनके नेता राहुल गांधी के सामने छत्तीसगढ़ में शराब बंदी पूर्णत: लागू करने की बात कही गई थी। इसके बावजूद छत्तीसगढ़ सरकार शराबबंदी नहीं कर रही है।

COVID-19
Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned