कोरोना इफेक्ट: कोर्ट में मुकदमों की डेट 31 मार्च के बाद के लिए बढ़ी, सिर्फ जमानत और इमरजेंसी मामलों की ही होगी सुनवाई

Covid-19: कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम अलर्ट, लोगों को किया जा रहा है जागरूक

अंबिकापुर. कोरोना वायरस (Corona virus) के रोकथाम के लिए हाईकोर्ट के निर्देश पर जिला एवं सत्र न्यायालय को भी अलर्ट पर रखा गया है। सभी प्रकरण बिना किसी सुनवाई किए ही अगली तिथि के लिए बढ़ा दिए गए हंै। इधर निगम द्वारा नोटिस जारी किए जाने के बाद शुक्रवार से चौपाटी सहित अन्य जगहों पर ठेला व फास्ट फूड सेंटरों में सन्नाटा पसर गया है।

शुक्रवार को महापौर ने निगम अमले के साथ शहर के विभिन्न स्थानों का जायजा लेकर साफ-सफाई बेहतर रखने के निर्देश दिए। जबकि सब्जी व किराना दुकानों में अचानक भीड़ बढ़ जाने से मुनाफाखोरी का अंदेशा बढ़ गया है। लोगों की भीड़ को देखते हुए कुछ दुकानदारों ने सामानों के दाम भी बढ़ा दिए है।


कोरोना वायरस को लेकर प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी करने के बाद जिला प्रशासन एक्शन में आ गया है। नगर निगम द्वारा चौपाटी, शॉपिंग कॉम्पलेक्स, मॉल सहित अन्य ऐसी जगह जहां लोगों की भीड़ एक साथ नजर आती है वैसे संस्थानों को बंद करने के लिए नोटिस जारी किया गया था। नोटिस का असर शुक्रवार से नजर आने लगा है।

इसके साथ ही हाईकोर्ट द्वारा न्यायालय को लेकर एक एडवाइजरी भी जारी की गई है। हाईकोर्ट से निर्देश मिलने के बाद जिला एवं सत्र न्यायालय में सभी लंबित मामलों की तिथि 31 मार्च के बाद के लिए बढ़ा दी गई है।

इसके साथ ही मामले में साक्ष्य भी दर्ज नहीं किया जा रहा है। इसके साथ ही अधिवक्ताओं के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं अगर जरूरी हो तभी न्यायालय पहुंचे, ताकि न्यायायल परिसर में लोगों की भीड़ कम पहुंचे। इसकी वजह से अंतिम बहस व आदेश पर भी रोक लगा दी गई है।

जिले में धारा 144 लागू होने की वजह से न्यायालय में भी एक जगह पर ज्यादा लोग एकत्रित न हो सके। इसे ध्यान में रखते हुए पक्षकारों को भी कोर्ट में आने से मना कर दिया गया है।


फाइलिंग और जमानत पर ही सुनवाई
हाईकोर्ट के निर्देशानुसार नए मामले सिर्फ फाइल किए जा सकते हैं, लेकिन इसमें अगर एकदम जरूरी नहीं हो तो कोई भी प्रक्रिया न्यायालय द्वारा नहीं की जाएगी। इसके साथ ही सिर्फ वहीं मामले सुने जा सकेंगे जो इमरजेंसी हैं। जमानत आवेदन सहित आवश्यक सुनवाई ही किए जा सकेंगे।


कुछ दुकानों में बढ़ गई भीड़
नगर निगम द्वारा गुरुवार को चौपाटी सहित अन्य फास्ट फूड सेंटर संचालकों को नोटिस जारी करते हुए शुक्रवार से दुकानों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया था। शुक्रवार से पूरी तरह चौपाटी, शॉपिंग काम्पलेक्स व मॉल में सन्नाटा पसर गया है। नोटिस के बाद गुरुवार की शाम से अचानक कुछ दुकानों में लोगों की भीड़ बढ़ गई।

इससे अफरा-तफरी की स्थिति भी निर्मित हो गई। भीड़ बढऩे से दुकान संचालकों ने कुछ सामानों के दाम बढ़ा दिए थे। जबकि केंद्र व राज्य सरकार ने स्पष्ट कहा है कि किसी भी प्रकार की पैनिक होने की जरूरत नहीं हैं, सामानों का स्टॉक करने की जरूरत नहीं है, दुकानें यथावत खुली रहेंगी।


परीक्षण में अब तक सभी की रिपोर्ट निगेटिव
कलक्टर डॉ. सारांश मित्तर के निर्देशन में जिले में कोरोना वायरस कोविड-19 से बचाव के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। विदेशों से यात्रा कर आने वाले तथा अन्य यात्रियों की पहचान कर परीक्षण एवं जांच की जा रही है। सीएमचओ ने बताया कि वर्तमान में विदेशों से आए हुए कुल 12 संदिग्ध यात्रियों का जांच एवं परीक्षण किया गया जिनमें सभी का कोरोना संक्रमण निगेटिव पाया गया है।

सावधानी के तौर पर इनमें से 5 संदिग्ध लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है एवं प्रतिदिन आईडीएसपी टीम द्वारा उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली जा रही है। कुल 5 वेंटीलेटर तथा 28 आइसोलेशन बेड बनाए गए हंै।

इसमें शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय संबद्ध जिला चिकित्सालय अम्बिकापुर में 5 वेंटीलेटर और 6 आईसोलेशन बेड, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र फुंदूरडिहारी में 4 आइसोलेशन बेड तथा अन्य निजी चिकित्सालयों में 18 आईसोलेशन बेड बनाए गए हैं।


आपस में कम से कम 3 फीट का रखें फासला- सीएमएचओ
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पीएस सिसोदिया ने बताया कि कई लोग अकसर अपनी नाक, मुंह और आंखों को बार-बार हाथ लगाते रहते हैं। इस वायरस से बचना चाहते हैं तो ऐसा बिल्कुल न करें। सावधानी के तौर पर दिन में कई बार हाथों को कम से कम 20 सेंकेण्ड तक धोंए।

इसके अलावा हाथों से बैक्टीरिया साफ करने के लिए उपयोगी सेनेटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहरी क्षेत्रों में नगर निगम के सहयोग से 5 जगहों को चिन्हांकित कर कोरोना वायरस से बचाव की जानकारी प्रदान की जा रही है। साथ ही बाहर से आने वाले यात्रियों की जानकारी प्राप्त कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अपने आस-पास के लोगों से कम से कम 3 फीट का फासला बनाए रखें।

जिन लोगों को खांसी या जुकाम हो उनसे भी दूर रहें। छींकते या खांसते वक्त नाक और मुंह को टिशू से ढंक ले और तुरंत बाद इस टिशू को डस्टबीन में फेंक दें। अगर आपको बुखार, खांसी है या सांस लेने में परेशानी हो रही है तो तुरंत डाक्टर से मिलें। कोशिश करें कि घर पर ही रहें। अनावश्यक रूप से बाहर आने-जाने से बचें। कोरोना वायरस से बचाव हेतु बाहर आते जाते समय मास्क का उपयोग करने की हिदायत दी गई है।

अंबिकापुर में कोरोना वायरस से जुड़ीं खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Coronavirus in Ambikapur

coronavirus COVID-19
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned