कोरोना महामारी: छत्तीसगढ़ के इस जिले के पटवारी मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे अपना 1 दिन का वेतन

CorCoronavirus: कोरोना महामारी से लडऩे पटवारियों ने अपना एक दिन का वेतन देने कलक्टर को लिखा पत्र

अंबिकापुर. कोरोना महामारी (Coronavirus) से लडऩे केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक एकजुट हैं। प्रतिदिन इस बीमारी से पीडि़तों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उनकी सुरक्षा के लिए सरकार जहां प्रयासरत हैं, वहीं कई ऐसे लोग, संगठन व अधिकारी-कर्मचारियों का संघ है जो स्वेच्छा से अपना एक दिन या महीनेभर का वेतन कोरोना महामारी राष्ट्रीय आपदा कोष में जमा कर रहा है।

इसी कड़ी में सरगुजा जिले के राजस्व पटवारी संघ ने भी अपना एक दिन का वेतन इस महामारी से पीडि़तों की स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है। (CM relief fund)


सरगुजा राजस्व पटवारी संघ के जिलाध्यक्ष श्रीकांत चौबे व सचिव प्रिया अग्रवाल ने कलक्टर को कआवेदन सौंपकर संघ के सभी पदाधिकारियों व सदस्यों का मार्च माह का 1 दिन का वेतन राष्ट्रीय आपदा कोरोना महामारी पीडि़तों की स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है।

संघ ने कहा है कि वे स्वेच्छा से मार्च माह में आने वाले अपने वेतन की 1 दिन की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में देना चाहते हैं। उन्होंने कलक्टर से आग्रह किया है कि पूरे माह के वेतन में से 1 दिन का वेतन काटकर उन्हें प्रदान किया जाए। इसकी प्रतिलिपि उन्होंने मुख्यमंत्री, राजस्व मंत्री व प्रदेश राजस्व पटवारी संघ को भी प्रेषित की है।


पूरे देश में है लॉकडाउन
गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए पीएम मोदी ने पूरे देश में 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है। उन्होंने सभी को अपने-अपने घरों में रहने कहा है।

इसका पालन स्वत: लोगों द्वारा किया जा रहा है। वहीं जिन लोगों द्वारा इसका उल्लंघन किया जा रहा है, उनकी खबर पुलिस ले रही है। चालानी कार्रवाई से लेकर मौके पर ही शर्मिंदा करने के अलावा दंड भी दिया जा रहा है।

अंबिकापुर में कोरोना वायरस से जुड़ीं खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- coronavirus /a>

coronavirus
Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned