मंत्री टीएस ने कोरोना के संक्रमण को कम करने का लॉकडाउन को बताया बेहतर फैसला, कहा- लॉकडाउन खुला तो बढ़ जाएगा खतरा

Covid-19: कोविड-19 की बन्दिशों का पालन अनिवार्य, कहा- वैक्सीन पर काम जारी, तैयार होने में 6 महीने से ज़्यादा लग सकता है समय

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 10 May 2020, 05:49 PM IST

अंबिकापुर. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (Cabinet Minister TS Singhdeo) ने रविवार को अपने निवास पर पत्रकारों से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि यदि देश में लॉकडाउन खोला गया तो कोरोना का खतरा बढ़ जाएगा। हमें आने वाले कई महीनों तक कोविड-19 की बन्दिशों का पालन करना ही होगा। इसकी वैक्सीन पर काम जारी है। इसमें कम से कम 6 महीने लगेंगे।


मंत्री सिंहदेव ने कहा कि देश में 80-85 फीसदी लोगों में कोरोना के लक्षण नजर ही नहीं आएंगे। ऐसे लोगों से इस संक्रमण के फैलने का खतरा ज्यादा है। देश में संसाधन की कमी है। हमारे पास लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प नहीं था। इस संक्रमण के खतरे को कम करने का यह बेहतर फैसला था।

लेकिन इसे हमेशा के लिए नहीं रखा जा सकता। अब आर्थिक संकट का खतरा बढ़ रहा है। ऐसे में हमें सामाजिक दूरी बनाकर, मास्क का उपयोग करते हुए जीने की आदत डालनी पड़ेगी। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक इसकी वैक्सीन तैयार नहीं कर ली जाती तब तक विश्व खतरे में है।


श्रमिकों को रखने के लिए तैयार हैं
दूसरे राज्यों से आने वाले मरीजों को रखने के लिए हम पूरी तरह से तैयार हैं। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि इतनी बड़ी संख्या में टेस्टिंग करना आसान नहीं होगा। फिलहाल हम हाई रिस्क वाले लोगों की टेस्टिंग पर फोकस किये हुए हैं।


80 फीसदी लोग ठीक हो जाते हैं
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमारा अनुमान है कि प्रदेश में लगभग 10 फीसदी लोग इससे संक्रमित हो सकते हैं। यह ऐसा संक्रमण है जिसके लक्षण कई लोगों में नजऱ नहीं आते और इनमें से 80 फीसदी स्वयं ही ठीक हो जाते हैं।


केंद्र से मिल रहा है भरपूर सहयोग
हमें इस संक्रमण से लडऩे के लिए अच्छा सहयोग मिल रहा है। राज्य से पीपीई किट और मास्क की जो डिमांड की गई थी उसे लगभग पूरा कर दिया गया। ये ज़रूर है कि केंद्र हमारी जीएसटी की राशि हमें नहीं दे रहा है। इससे थोड़ी परेशानी हो रही है।

COVID-19
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned