रायगढ़ ने सरगुजा की कोरोना सैंपलों की जांच से किया इनकार, इधर हमारे लैब में किट ही नहीं

Covid-19: सरगुजा में प्रतिदिन मिल रहे पॉजिटिव केस, चार से 5 दिन में किट आने की जताई जा रही उम्मीद, नहीं हो पा रही आरटीपीसीआर जांच

By: rampravesh vishwakarma

Published: 02 Aug 2020, 01:09 PM IST

अंबिकापुर. कोरोना (Covid-19) जांच के लिए आरटीपीसीआर किट की किल्लत पूरे प्रदेश में हैं। इस कारण रायपुर, रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में हो रही आरटीपीसीआर जांच बंद कर दी गई है। सरगुजा संभाग का भी कोरोना सैंपल जांच के लिए रायगढ़ भेजा जाता था।

रायगढ़ मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब में किट उपलब्ध नहीं होने के कारण यहां के सैंपलों की जांच करने से मना कर दिया गया है। इससे सरगुजा स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। वहीं अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में बने वायरोलॉजी लैब में भी किट की उपलब्धता नहीं होने के कारण जांच (Corona testing) शुरू नहीं हो सकी है।

विकल्प के रूप में एंटीजेन किट व ट्रू नॉट मशीन से सैंपलों की जांच की जा रही है। शनिवार को एंटीजेन किट से 300 व ट्रू नॉट मशीन से 40 सैंपलों की जांच की गई है।

इससे पूर्व आरटीपीसीआर व ट्रू नॉट मशीन से कुल 600 से ज्यादा जांच होती थी। इस संबंध में माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ. कृष्णमूर्ति ने बताया कि चार-पांच दिनों में किट आने की उम्मीद है। किट आते ही जांच शुरू हो जाएगी। (Covid-19)


सरगुजा में प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा ज्यादा से ज्यादा सैंपलों की जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। सरगुजा संभाग से भी कोरोना जांच के लिए सैंपल रायगढ़ मेडिकल कॉलेज भेजा जाता था।

इस दौरान प्रदेश में आरटीपीसीआर जांच किट उपलब्ध नहीं होने के कारण रायगढ़ मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने सरगुजा संभाग के सैंपलों की जांच करने से मना कर दिया। पिछले दो दिनों से रायगढ़ में जांच नहीं होने से सरगुजा में स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। हालांकि अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में वायरोलॉजी लैब बन कर तैयार है।

आईसीएमआर द्वारा आईडी पासवर्ड भी जारी कर दिया गया है। आरटीपीसीआर किट की उपलब्धता नहीं होने के कारण जांच शुरू नहीं की जा सकी है। वहीं विकल्प के रूप में एंटीजेन किट व ट्रू नॉट मशीन से सैंपलों की जांच की जा रही है।


सिर्फ प्राथमिक स्क्रीनिंग का चल रहा पता
माइक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ. कृष्णमूर्ति ने बताया कि विकल्प के रूप में एंटीजेन किट व ट्रू नॉट मशीन से सैंपलों की जांच की जा रही है। एंटीजेन किट से प्राथमिक स्क्रीनिंग का पता चल पाता है।

रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर पॉजिटिव मान लिया जाता है। वहीं अगर एंटीजेन किट से जांच पर निगेटिव रिपोर्ट आती है तो संतुष्टि के लिए आरपीटपीसीआर टेस्ट जरूरी होता है।

COVID-19
Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned