नेता प्रतिपक्ष धरमलाल बोले- प्रदेश में बिचौलियों व माफियाओं को संरक्षण देने में लगी है सरकार

Dharamlal Kaushik: अपने एकदिवसीय अंबिकापुर (Ambikapur) प्रवास पर पहुंचे छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh assembly) में नेता प्रतिपक्ष (Leadere of opposition) धरमलाल कौशिक ने प्रदेश सरकार पर बोला हमला

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 17 Nov 2020, 10:59 PM IST

अंबिकापुर. प्रदेश की कांगे्रस सरकार (Congress Government) किसान विरोधी है। यह बिचौलियों व माफियाओं को संरक्षण देने का काम कर रही है। समय पर धान खरीदी शुरू नहीं होने से प्रदेश के छोटे व मध्यम वर्ग के किसान धान को बिचौलियों के पास बेचने को मजबूर हैं।

बिचौलिए कम दामों पर किसान (Farmers) से धान खरीद कर ज्यादा दामों पर सरकार को बेचेंगे। इसी कारण प्रदेश में धान खरीदी एक दिसंबर से शुरू की जा रही है। भाजपा शासन काल में पिछले 15 वर्षों तक 15 नवंबर तक धान खरीदी शुरू हो जाती थी।


उक्त बातें मंगलवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष (Leader of opposition) धरमलाल कौशिक ने अंबिकापुर स्थित सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता में कहीं। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रवास के दौरान बसदेई, लोधिमा, देवनगर धान खरीदी केंद्र (Paddy procurement center) का जायजा लिया। यहां पर पिछली धान खरीदी का अब तक उठाव तक नहीं हुआ है।

प्रदेश के खाद्य मंत्री ने कहा था कि सभी जगहों से धान का उठाव हो चुका है पर ऐसा नहीं है। अभी भी 50 करोड़ का धान केंद्रों में पड़ा है। 15 साल तक भाजपा सरकार के कार्यकाल के दौरान सीधे धान सोसायटी को जाता थी। फिलहाल कांग्रेस सरकार द्वारा एक जगह से दो बार ट्रांस्पोर्टिंग किया जा रहा है, जो कि सरकारी खजाना के लिए ठीक नहीं है।


किसान आत्महत्या करने को मजबूर
कौशिक ने कहा कि प्रदेश सरकार उत्सव मनाने में लगी है। इधर किसान कर्ज व फसल बर्बाद हो जाने से आत्महत्या (Suicide) करने को मजबूर हंै। किसान लगातार कर्ज से दब रहे हंै। सीएम भूपेश बघेल के क्षेत्र में भी किसान के आत्महत्या करने का मामला सामने आ चुका है। किसानों को नकली बीज व कीटनाशक दिया जा रहा है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार भगवान भरोसे चल रही है।


बिचौलियों के हित में कर रही काम
कौशिक ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश में १ दिसंबर से धान खरीदी करनी है। छोटे किसानों की फसल कट चुकी है। किसान मजबूरी में बिचौलियों के पास धान बेच रहे हैं। बिचौलिए इसका फायदा उठाते हुए 14 से 15 रुपए किलो खरीद रहे हैं। सरकार 1 दिसंबर से धान खरीदी करेगी तो बिचौलिए उसी धान को 25 रुपए में बेचेंगे।

सरकारर बिचौलियों को फायदा पहुंचाने के लिए यह काम कर रही है। सरकार किसान विरोधी है और बिचौलियों के हित में काम कर रही है।


बारदानों के नाम पर राजनीति
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक (Leader of opposition) ने कहा कि कोलकाता में जूट मिल है, बारदानों के लिए वहां आर्डर दिया जाता है। प्रदेश सरकार ने एक बार भी केन्द्र सरकार के पास बारदाने की मांग नहीं की है। धान खरीदी होनी है तो अब केन्द्र सरकार पर आरोप लगा रही है। सरकार केवल बोरे के नाम पर राजनीतिक कर रही है।

उन्होंने कहा कि किसानों के खाते में धान खरीदी (Paddy procurement0 के 25 सौ रुपए नहीं पहुंच रहे हैं। प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को धान खरीदी का चार किस्तों में भुगतान किया जा रहा है। जबकि केन्द्र सरकार द्वारा 18 सौ रुपए के हिसाब से एक किस्त में दे दिया जा रहा है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned