बर्खास्त होने के बाद भी आरक्षक नहीं छोड़ पाया ये घिनौना काम, इस बार दोस्त के साथ हुआ गिरफ्तार

बर्खास्त होने के बाद भी आरक्षक नहीं छोड़ पाया ये घिनौना काम, इस बार दोस्त के साथ हुआ गिरफ्तार

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Dec, 08 2018 07:35:09 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 07:35:10 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

पुलिस को देखते ही भागने लगे दोनों लेकिन दौड़ाकर पकड़ लिया गया, तलाशी लेने पर निकला 3 लाख का ब्राउनशुगर

अंबिकापुर. कोतवाली व क्राइम ब्रांच की टीम ने शनिवार को अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग पर 3 लाख के ब्राउन शुगर के साथ 2 युवकों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी ब्राउनशुगर की बिक्री के लिए ग्राहक तलाश रहे थे। इसमें एक आरोपी बर्खास्त आरक्षक बताया जा रहा है।

वह काफी नशेड़ी प्रवृति का है। वह पूर्व में भी कई बार एनडीपीएस के मामले में जेल जा चुका है। पुलिस ने दोनों आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।


शहर में मादक पदार्थों का अवैध करोबार बढ़ा हुआ है। काफी मात्रा में शहर व आस-पास के क्षेत्रों में नशीला पदार्थ खपाया जा रहा है। कोतवाली पुलिस ने २ माह के अंदर 5-6 आरोपियों को ब्राउन शुगर के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा है। सरगुजा आईजी हिमांशु गुप्ता व एसपी सदानंद कुमार द्वारा शहर में बढ़ते अवैध मादक पदार्थ के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिया है।

इसी कड़ी में शनिवार की सुबह कोतवाली पुलिस व क्राइम ब्रांच टीम को मुखबिर से सूचना मिली की अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग पर स्थित टर्निंग प्वाइंट ढाबा के पास 2 युवक मादक पदार्थ की बिक्री हेतु ग्राहक तलाश रहे हैं।

एडीशनल एसपी रामकृष्ण साहू व सीएसपी आरएन यादव के मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच व कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम मौके पर पहुंची। पुलिस को देखकर दोनों युवक भागने लगे। पुलिस ने दोनों को दौड़ाकर पकड़ा।

पुलिस ने जब उनकी तलाशी ली तो दोनों के पास से कुल 15.45 ग्राम ब्राउनशुगर मिला। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की तो अपना नाम बौरीपारा केनाबांध निवासी 25 वर्षीय अविनाश मिश्रा एवं सिंचाई कॉलोनी निवासी 25 वर्षीय संत अगरिया बताया।

जब्त ब्राउन शुगर की बाजार में कीमत 3 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने दोनों आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है।


बर्खास्त आरक्षक है अविनाश मिश्रा
आरोपी अविनाश मिश्रा बर्खास्त आरक्षक है। पूर्व में कोतवाली से एनडीपीएस एक्ट एवं थाना राजपुर में छेड़छाड़ के मामले में जेल जा चुका है। वह काफी नशेड़ी प्रवृति का है। इसी वजह से उसे बर्खास्त किया जा चुका है।

यह झारखंड के गढ़वा से कम कीमत में ब्राउनशुगर लागर यहां अधिक दामों में बेचने का काम करता है। गिरफ्तार दोनों युवक ब्राउनशुगर बेचने के साथ-साथ सेवन भी करते हैं।


कार्रवाई में ये रहे शामिल
उक्त कार्रवाई में कोतवाली प्रभारी विनय सिंह बघेल, क्राइम ब्रांच प्रभारी मनीष यादव, धर्मेन्द्र श्रीवास्तव, भोजराज पासवान, विवेक राय, जायदीप सिंह, दीनदयाल सिंह, मनीष यादव, अमृत ङ्क्षसह, जितेश साहू, राकेश शर्मा, अमित विश्वकर्मा, नितिन सिन्हा, विरेंद्र पैकरा, बृजेश राय व महिला आरक्षक स्मिता रागिनी शामिल रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned