बगल में मरा पड़ा था ड्राइवर और रातभर कराहते रहे घायल, गैस कटर से काटकर निकाला गया बाहर- देखें Video

तातापानी महोत्सव की तैयारी के लिए स्टेज का सामान ले जाने के दौरान अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग पर भेड़ाघाट पुलिया में पलटा मिनी ट्रक

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 05 Jan 2018, 06:51 PM IST

अंबिकापुर/बासेन. बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के तातापानी में महोत्सव की तैयारियां चल रही हैं। इसमें अंबिकापुर से मिनी ट्रक में स्टेज का सामान लोड कर ड्राइवर सहित 2 अन्य कर्मचारी वहां जा रहे थे। देर रात भेड़ाघाट में आ रहे ट्रक से टकराकर मिनी ट्रक पुलिया के नीचे गिर गया। हादसे में ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई।

इधर 2 कर्मचारी रातभर मिनी ट्रक में ही फंसे रहे। सुबह राजपुर पुलिस ने स्थानीय ग्रामीणों की मदद से गैस कटर से काटकर घायलों को बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि ड्राइवर शराब के नशे में वाहन चला रहा था। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है। प्रशासन द्वारा तातापानी में मकर संक्रांति महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से की जा रही हैं। महोत्सव में स्टेज बनाने का सामान लेकर गुरुवार की रात एक मिनी ट्रक अंबिकापुर से तातापानी के लिए निकला था। वाहन शंकरगढ़ के ग्राम सरगवां निवासी हिरेंद्र राम पिता तुलसी राम चला रहा था।

उसके साथ वाहन में धौरपुर के ग्राम रवई निवासी राजेश कुमार पिता मुन्ना राम 18 वर्ष तथा सालिस कुमार मिंज पिता लभरन राम भी सवार थे। तीनों अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग स्थित भेड़ाघाट के पास रात करीब 11.30 बजे पहुंचे थे। इसी दौरान सामने से आ रहे ट्रक से टकराकर मिनी ट्रक भेड़ाघाट पुलिया में पलट गई।

 

Mini truck accident

हादसे में ड्राइवर हिरेंद्र की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि राजेश व सालिस कुमार मिनी ट्रक में ही फंस गए। दोनों को गंभीर चोटें आई थीं। वे रातभर वाहन में ही फंसकर कराहते रहे।


10 घंटे बाद ड्राइवर व घायलों को निकाला गया बाहर
सुबह इसकी सूचना राजपुर पुलिस को राहगीरों ने दी तो वे दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। फिर राजपुर से गैस कटर मंगाकर पुलिस ने स्थानीय ग्रामीणों की मदद से ड्राइवर सहित दोनों घायलों को करीब 10 घंटे बाद बाहर निकाला। पंचनामा पश्चात ड्राइवर के शव को पीएम के लिए अस्पताल भिजवाया गया।

वहीं घायलों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि ड्राइवर ने शराब पी रखी थी। मृत ड्राइवरों व घायलों को बाहर निकालने में एएसआई केपी सिंह, प्रधान आरक्षक संटी तिवारी, आरक्षक पंकज पोर्ते, भिखराम, तेजूराम, प्रबोध मिंज, उमेश यादव, संदीप तिर्की व अन्य सक्रिय रहे। पुलिस ने मामले को विवेचना में लिया है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned