मृत किसान के परिजनों से मिले भाजपाई, कहा- कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही के कारण की आत्महत्या

Farmers suicide case: मृतक के पुत्र का कहना था कि उसके पिता कर्ज (Debt) की राशि न पटा पाने के कारण टेंशन (Tension) में थे, इस कारण किया था जहर सेवन (Eat poison)

By: rampravesh vishwakarma

Published: 16 Dec 2020, 08:32 PM IST

अंबिकापुर. धौरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बबौली के बथानपारा निवासी दशन राम 45 वर्ष ने 12 दिसंबर की रात जहर सेवन कर लिया था। इलाज के दौरान 14 दिसंबर की रात मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उसकी मौत (Death) हो गई थी। इस मामले में मृत किसान के पुत्र ने कहा था कि उसके पिता ट्रैक्टर की कर्ज (Debt) की राशि नहीं पटा पाने के कारण तनाव में रहते थे, इस कारण उन्होंने ऐसा कदम उठाया।

किसान द्वारा आत्महत्या (Farmers suicide) की खबर पर भाजपा का प्रतिनिधिमंडल आज गांव में पहुंचा और मृत किसान के परिजन से मुलाकात की। आत्महत्या को उन्होंने कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही बताया।


गौरतलब है कि किसान द्वारा आत्महत्या (Farmer suicide case) करने के मामले में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, संगठन महामंत्री पवन साय व विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा एक जांच टीम का गठन किया गया।

इसमें भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री भारत सिंह सिसोदिया, लुंड्रा के पूर्व विधायक विजय नाथ सिंह, आकाश गुप्ता, अनीश सिंह, प्रियेश अग्रहरि को शामिल किया गया। टीम ने बुधवार को ग्राम बबौली में जाकर मृत कृषक के परिजनों से मुलाक़ात की। जांच के बाद उन्होंने बताया कि किसान की आत्महत्या करने की वजह ट्रैक्टर के किश्त न चुका पाना बताया।

मृत किसान के परिजनों से मिले भाजपाई, कहा- कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही के कारण की आत्महत्या

उन्होंने बताया कि इस वर्ष कृषि उपज भी न होना तथा प्रधानमंत्री आवास योजना (PM awas yojna) के अंतर्गत मिली राशी भी बैक द्वारा बोर की बकाया किश्त बता कर काट लेने के कारण किसान लगातार कर्ज के बोझ से दबता गया। इस कारण उसने आत्महत्या करने जैसा कदम उठाया।


जांच में ये बात आई सामने
किसान मोर्चा की प्रतिनिधिमंडल ने जांच में पाया कि मामले में क्षेत्रीय विधायक, जनप्रतिनिधियों, सरकार, शासकीय अमला एवं छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) की घोर लापरवाही (Revealed) प्रतीत होती है। खुद को किसान हितैषी बताने वाली सरकार ने राजनंदगांव में 23 कट्टा धान को खऱाब बताया, वही कृषक से 500 रुपए की मांग की।

इससे ह्रदयघात के कारण किसान की मत्यु हो गई। वहीं कुछ दिन पूर्व कोंडागाव में गिरदावरी में रकबा कम होने से एक किसान ने आत्महत्या (Suicide) कर ली थी। इसके बाद कर्ज से परेशान ग्राम पंचायत बबौली में किसान दशन राम ने आत्महत्या कर ली।


विधानसभा अध्यक्ष कल जाएंगे बबौली
जांच टीम द्वारा प्रदेश नेतृत्व को मामले से अवगत कराया गया। अब विधानसभा नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक गहन जांच व शोक संतप्त परिवार को सम्बल देने गुरुवार को ग्राम बबौली पहुंचेंगे।


घरेलू विवाद के बाद खाया जहर
इधर जिला प्रशासन (District administration) का कहना है कि घरेलू विवाद के बाद किसान ने नशे की हालत में जहर का सेवन किया था। कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या की बात को उन्होंने बेबुनियाद बताया।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned