होटल से नाश्ता कर बाहर निकले पिता-पुत्र ने देखा ये नजारा तो उड़ गए होश

सीतापुर में पहले भी हो चुकी है इस तरह की कई घटनाएं, बिना पुलिस को सूचना दिए पिता-पुत्र चले गए घर

By: rampravesh vishwakarma

Published: 24 May 2018, 09:12 PM IST

सीतापुर. नगर में सक्रिय उठाइगिरों ने इस बार पिता-पुत्र को अपना शिकार बना लिया। पिता-पुत्र केसीसी लोन के 26 हजार रुपए डिक्की में रखकर नाश्ता करने होटल में घुसे थे। दोनों जब बाहर आए तो बाइक की डिक्की खुली थी और उसमें रखे रुपए गायब थे। यह देखते ही उनके होश उड़ गए।

उनका कहना है कि उन्होंने घटना की रिपोर्ट इसलिए थाने में दर्ज नहीं कराई कि पुलिस पर उन्हें भरोसा नहीं है। इससे पूर्व भी सीतापुर में उठाइगिरी की कई घटनाएं हो चुकी हैं। नगर में उठाइगिरी की बढ़ती घटना ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर दिये हैं।


गुरुवार को ग्राम बगडोली निवासी रिमन गोंड़ अपने पुत्र सुरजीत के साथ जिला सहकारी केंद्रीय बैंक से केसीसी लोन के रूप में 26 हजार रुपये आहरित किया था। रुपए आहरण करने के बाद दोनों पिता-पुत्र थाने के सामने स्थित होटल पहुंचे और बाहर बाइक खड़ी कर नाश्ता करने अंदर गये।

इतने में ही उठाइगिरों ने मौका पाकर डिक्की तोड़कर अंदर रखे 26 हजार रुपए पार कर दिए। होटल के सामने काफी भीड़ थी लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नही ंदिया जैसे ही पिता-पुत्र बाहर निकलकर अपनी बाइक के पास पहुंचे उन्हें बाइक की डिक्की खुली नजर आई, उन्होंने अंदर देखा तो उनके होश उड़ गए। डिक्की में रखे नकद रकम गायब थे।

इस घटना से पिता-पुत्र सदमे में आ गये। थाने के सामने हुई इस उठाइगिरी की घटना आहत पुत्र सुरजीत ने कहा कि उन्हें पुलिस पर ज्यादा भरोसा नही है इसलिये वे थाने में रिपोर्ट लिखाये बिना ही चले आये। इस संबंध में नगर निरीक्षक मनीष धुर्वे ने बताया कि इस तरह की किसी घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज नहीं हुई है।


पुलिस की कार्यशैली पर उठे सवाल
नगर में बढ़ती उठाइगिरी की घटना से पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे गये हंै, वही लोगों मे भी असुरक्षा का माहौल निर्मित होने लगा है। विगत कुछ दिनों से जिस तरह उठाइगिरों का गिरोह नगर में घटना को अंजाम दे रहा है। इससे लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें गहराने लगी हंै।

अभी चार दिन पूर्व ही तहसील कार्यालय के पास एक महिला उठाइगिरी की शिकार हुई थी। इससे पूर्व भी नगर में इस तरह की कई घटना घट चुकी है लेकिन पुलिस ने इस तरह की घटनाओं पर रोकथाम के कोई उपाय नहीं अपराए। सिलसिलेवार हो रही घटना के बाद भी पुलिस एक भी आरोपी को अब तक नहीं पकड़ पाई है, इस मामले में पुलिस के हाथ खाली हैं।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned