कोरोना काल में लाइन लगाकर खड़े किसानों को किसी निजी नहीं बल्कि सहकारी समिति ने ही लूटा, प्रति बोरी 225 रुपए लिए एक्स्ट्रा

Fertilizers: आक्रोशित किसान पहुंचे कलक्टोरेट, प्रदेश कांग्रेस सचिव के नेतृत्व में कलक्टर से शिकायत कर समिति प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई की मांग

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 14 Sep 2020, 10:25 PM IST

अंबिकापुर. कोरोना काल में पहले से ही कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे किसानों को अब यूरिया व इफको एनपीके के नाम पर किसी निजी दुकान नहीं बल्कि सहकारी समिति में ही लूटा जा रहा है। लखनपुर विकासखंड अंतर्गत चांदो सहकारी समिति में किसानों को यूरिया व इफको एनपीके निर्धारित दर से अधिक दाम पर बेचा गया है।

इससे आक्रोशित किसान सोमवार को कांग्रेस नेता के नेतृत्व में कलक्टोरेट पहुंचे और मामले की जांच करते हुए समिति प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने व अधिक ली गई रकम वापस दिलाने की मांग की है। (Fertilizers)


गौरतलब है कि कोरोना काल में अविभाजित सरगुजा में यूरिया खाद (fertilizers) के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। दुकान से लेकर समितियों तक किसानों की भीड़ उमड़ी, वे यूरिया खाद के लिए हर दिन मशक्कत करते नजर आए।

स्टॉक आने के बाद अब सहकारी समिति में किसानों को यूरिया व इफको एनपीके के नाम पर लूटा जा रहा है। इसी मामले को लेकर चांदो सहकारी समिति के किसान कांग्रेस प्रदेश सचिव शैलेंद्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में कलक्टोरेट पहुंचे थे। यहां ज्ञापन सौंपने के बाद कांग्रेस नेता ने बताया कि यूरिया का दाम 267 रुपए निर्धारित है, जबकि इसे किसानों को चांदो समिति द्वारा 297 रुपए में दिया गया है।

वहीं इफको एनपीके की कीमत 1125 रुपए है, जिसे 1350 रुपए में किसानों को बेचा गया है। सीधे-सीधे हर किसान से दोनों को मिलाकर 255 रुपए प्रति बोरी अवैध वसूली की गई है। उन्होंने बताया कि इससे लगभग 1500 किसान प्रभावित हुए हंै।

किसानों द्वारा इस पूरे मामले की जांच कर समिति प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर करने व अधिक ली गई रकम वापस करने की मांग की गई है। चांदो समिति प्रबंधक पर पूर्व में फर्जीवाड़ा करने के आरोप लग चुके हैं।


शिकायत करने वालों में ये रहे शामिल
शिकायत करने वालों में प्रदेश कांग्रेस सचिव शैलेंद्र प्रताप सिंह, शिवराज सिंह, विकास केशरी, शकुंतला मझवार, नवनीत सिंह, शिवपाल प्रजापति, अक्षय सिंह, शिवकुमारी, आशीष, अमित कश्यप, अंबर त्रिपाठी, नितिन मिश्रा, सविता, रामपति, खेलकुंवर, सुमित्रा सहित बड़ी संख्या में अन्य किसान शामिल रहे।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned