यूरिया की किल्लत पर विपक्ष के तीखे हमले से एक्शन में खाद्य मंत्री, अफसर को लगाई फटकार, बोले- भंडारण के बाद भी क्यों जूझ रहे किसान

Food Minister: खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा- यूरिया की कालाबाजारी की शिकायत मिलने पर तत्काल होगी कार्रवाई

By: rampravesh vishwakarma

Published: 23 Aug 2020, 12:42 PM IST

अंबिकापुर. सरगुजा में यूरिया खाद की किल्लत को लेकर विपक्ष द्वारा लगातार सरकार पर तीखे हमले किए जाने के बाद खाद्य मंत्री अमरजीत भगत (Food Minister) एक्शन में आ गए हैं। उन्होंने शनिवार को अम्बिकापुर स्थित विभिन्न निजी उर्वरक दुकानों तथा सहकारी समिति का औचक निरीक्षण कर खाद भण्डारण एवं वितरण की जानकारी ली तथा किसानों की समस्याओं से अवगत हुए।

उन्होंने उप संचालक कृषि को फटकार लगाई। साथ ही कृषि विभाग एवं जिला सहकारी बैंक के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष जिले में यूरिया उर्वरक का अधिक भण्डारण हुआ है, इसके बाद भी किसानों को यूरिया के लिए जूझना पड़ रहा है।

किसानों को जरूरत के अनुसार सहकारी समितियों से यूरिया उपलब्ध कराएं उन्हें अधिक दाम पर यूरिया खरीदने की नौबत नहीं आनी चाहिए। किसानों की समस्या का तत्काल निराकरण करें जिस समिति में यूरिया नहीं है उसके आस-पास के समिति से किसानों को यूरिया उपलब्ध कराएं। यूरिया की कालाबाजारी करने की शिकायत पाये जाने पर तत्काल कार्यवाही की जाएगी।


खाद्य मंत्री (Food Minister) ने भारत माता चौक के पास विजय ट्रेडिंग, प्राथमिक तिलहन उत्पादक सहकारी समिति तथा आदिम जाति सेवा सहकारी समिति नमनाकला का निरीक्षण कर भण्डारण एवं वितरण की जानकारी ली।

उन्होंने निजी उर्वरक दुकानों से खाद प्राप्त कर रहे किसानों से चर्चा की तथा विक्रेताओं को भण्डारण एवं वितरण की दस्तावेज संधारित करने के निर्देश दिए। इधर कलक्टर संजीव कुमार झा ने उप संचालक कृषि को निर्देशित किया है कि जिन किसानों का क्रेडिट कार्ड नहीं बन पाया है जिससे खाद लेने में दिक्कत हो रही है उन किसानों का सहकारी समिति में आवश्यक दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, बी-1, खसरा, 4 प्रति पासपोर्ट साईज का फोटो, ऋण पुस्तिका तथा बैंक खाता लेकर किसान क्रेडिट कार्ड बनाएं और यूरिया उपलब्ध कराएं।

उन्होंने उप संचालक कृषि को सहकारी समितियों में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर प्रतिदिन की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। प्रशासन के आंकड़ों के अनुसार सरगुजा जिले के सहकारी समितियों में अब तक 96 हजार 790 क्विंटल यूरिया का भण्डारण कर 51 हजार 537 क्विंटल का वितरण किया गया है।

समितियों में 5 हजार 253 क्विंटल यूरिया शेष हैं। निरीक्षण के दौरान छत्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे।


उपसंचालक कृषि को लगाई फटकार
समितियों व दुकानों के निरीक्षण के दौरान खाद्य मंत्री (Food Minister) ने कृषि विभाग के उपसंचालक एमआर भगत को फटकार लगाते हुए कहा कि किसानों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध कराना आपका कर्तव्य है। विपक्ष द्वारा यूरिया के नाम पर सरकार को बदनाम करने की साजिश की जा रही है।

किसानों को किसी प्रकार की समस्या नही होनी चाहिए। किसानों को जितनी आवश्यकता है उतना यूरिया उपलब्ध कराइये। यूरिया की कालाबाजारी से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत आने पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान उन्होंने सीतापुर और बतौली में यूरिया की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश एसडीएम सीतापुर को फोन पर दिए।


इधर भाजपा बोली- यूरिया नहीं मिलने से किसानों में हाहाकार
भाजपा के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष ललन प्रताप सिंह एवं निवर्तमान जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने कलक्टर संजीव कुमार झा से मिलकर जिले में यूरिया की अनुपलब्धता एवं कालाबाजारी को लेकर ज्ञापन सौंपा। भाजपाइयों ने कालाबाजारी रोकने तथा जिले के किसानों को मांग के अनुरूप पर्याप्त मात्रा में यूरिया उपलब्ध कराये जाने की मांग की।

यूरिया की किल्लत पर विपक्ष के तीखे हमले से एक्शन में खाद्य मंत्री, अफसर को लगाई फटकार, बोले- भंडारण के बाद भी क्यों जूझ रहे किसान

प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि जिले के सभी विकासखंडों के प्राथमिक सहकारी समितियों एवं अधिकृत विक्रेताओं के पास मांग के अनुरूप यूरिया उपलब्ध न हो पाने के कारण जिले भर के किसानों में हाहाकार मचा हुआ है। जिले भर के किसान अत्यंत चिंतित नजर आ रहे हैं, यूरिया छिडक़ाव के अभाव में खेतों की खड़ी फसलें चौपट होने के कगार पर हैं व जिले में कृषि कार्य व्यापक रूप से प्रभावित हो रहा है।

किसान सहकारी समितियों के सामने सुबह से शाम तक भूखे प्यासे कतार लगाने को मजबूर हैं। शासन की उदासीनता व अव्यवस्था के कारण यूरिया की कालाबाजारी जोरों पर है। किसान युरिया दोगुने-तिगुने दामों पर खरीदने को मजबूर हैं। मजबुर हो रहे हैं व स्वयं को असहाय महसुस कर रहे हैं।

प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्टर के समक्ष यह मांग रखी की जिले में यूरिया की अविलंब उपलब्धता की जाए। इस अवसर पर भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री भारत सिंह सिसोदिया, वरिष्ठ भाजपा नेता करता राम गुप्ता, जिला उपाध्यक्ष अम्बिकेश केशरी, मंडल अध्यक्ष विद्यानंद मिश्रा, जिला कार्यालय मंत्री विनोद हर्ष, मंडल महामंत्री शैलेष सिंह व रामप्रवेश पाण्डेय उपस्थित रहे।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned