खाद्य मंत्री ने खाद्यान्न गोदाम का किया उद्घाटन, बोले- धान से एथेनॉल बनाने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य

Food Minister: 10 हजार 800 मीट्रिक टन खाद्यान्न का होगा भंडारण, बेहतर ढंग से हो सकेगा चावल का रख-रखाव, आस-पास के लोगों को मिलेगा रोजगार (Employment)

By: rampravesh vishwakarma

Published: 23 Oct 2020, 12:00 AM IST

अम्बिकापुर. छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत ने गुरुवार को सीतापुर विकासखंड के ग्राम बनेया में छत्तीसगढ़ स्टेट वेयर हाउसिंग के नव निर्मित 10 हजार 800 मेट्रिक क्षमता के गोदाम का उद्घाटन फीता काटकर किया।

लोक निर्माण विभाग द्वारा 5 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से गोदाम का निर्माण किया गया है। मंत्री भगत ने कहा कि धान से एथेनॉल बनाने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य होगा। एथेनॉल जैव ईंधन के क्षेत्र में काम करेगा।


लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि सीतापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बनेया में नवनिर्मित 10 हजार 800 मेट्रिक टन खाद्यान्न भंडारण गोदाम (Warehouse godown) के बन जाने से अब जिले में खाद्यान्न भंडारण की क्षमता में वृद्धि हुई है तथा खाद्यान्न भंडारण में सहूलियत होगी।

वेयर हाउस के बन जाने से चावल का रख-रखाव बेहतर ढंग से सकेगा और आस-पास के राइस मिल का चावल भी इसी वेयर हाउस में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि इस वेयर हाउस के बनने से भंडारण क्षमता में वृद्धि तो हुई है साथ ही आस-पास के लोगों को यहां रोजगार भी मिल सकेगा।

मंत्री भगत ने कहा कि 27 एवं 28 अक्टूबर को होने विधानसभा की विशेष सत्र में केन्द्र सरकार के कृषि बिल पर चर्चा की जाएगी। किसानों का अहित न हो इसके लिए प्रभावी कदम उठाने पर भी विचार विमर्श किया जाएगा।

मंत्री भगत ने इस दौरान दूर-दराज गांव से अपनी समस्या लेकर आए हुए ग्रामीणों के आवेदन पर कार्यवाही करने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि छोट-छोटे कार्यों से संबंधित आवेदनों पर भी त्वरित गति से कार्यवाही करें।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष शैलेष सिंह तथा अन्य जनप्रतिनिधि, एसडीएम (SDM) दीपिका नेताम सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी तथा ग्रामीण जन उपस्थित थे।


धान से एथेनॉल बनाने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य
खाद्य मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य होगा जहां धान से एथेनॉल (Ethenol) बनाया जाएगा, जो जैव र्इंधन के क्षेत्र में काम करेगा। एथेनॉल के निर्माण से आने वाले समय में किसानों को निश्चित ही दूरगामी फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि जो किसान साल में एक बार धान की खेती करते थे वे अब खरीफ के साथ रबी में भी धान की खेती करके शासन को बेचने में सक्षम होंगे।

भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में आम आदमी की सुविधा को ध्यान में रखते हुए विकास कार्य किया जा रहा है। कुछ दिन पूर्व ही मुख्यमंत्री (CM) ने मैनपाट के सुपलगा, करदना में पुल निर्माण तथा पेंट से पीडिया तक सडक़ निर्माण की घोषणा की है। इस निर्माण कार्य से क्षेत्र के लोगों को आवागमन में काफी सहूलियत होगी।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned