सरकारी दुकानों से ब्रांडेड बोतलों में बिक रही मिलावटी शराब, जानकर भी अनजान बना आबकारी विभाग

Government Liquor shop: अवैध कारोबार पर नहीं हो रही कोई जांच-कार्रवाई, शराब पे्रमियों के स्वास्थ्य से हो रहा खिलवाड़, शराब (Liquor) की खेप आते समय रास्ते में मिलावट की बात आ रही सामने

By: rampravesh vishwakarma

Published: 03 Apr 2021, 08:44 PM IST

अंबिकापुर. सरगुजा की लगभग सभी सरकारी शराब की दुकानों (Government Liquor shops) पर मिलावटी शराब की बिक्री की जा रही है। आबकारी विभाग जान कर भी अनजान बना हुआ है। एक ओर जहां मिलावटी शराब पीने से लोगों के स्वास्थ्य को हानि पहुंच रही है वहीं दूसरी तरफ आर्थिक नुकसान भी हो रहा है, लेकिन आबकारी विभाग मौन धारण किए हुए है।

इसी का नाजायज फायदा उठाते हुए सरकारी दुकानों के सेल्समैन (Salesmen) ग्राहकों की आंख में धूल झोंक कर मिलावटी शराब परोस रहे हैं।


शराब प्रेमियों ने बताया कि क्षेत्र की लगभग सभी शराब की दुकानों में मिलावटी शराब मिलती है। इसी कारण इसमें नशे की भी कमी होती है, जो व्यक्ति कम मात्रा वाली शराब की बोतल में काम चला लेता था उसको अब अधिक मात्रा वाली बोतल लेनी पड़ रही है।

साथ में यह भी बताया कि किसी-किसी बोतल में जो नीचे सील लगी होती है, वह ढक्कन खोलने के साथ ही निकल आती है। जब ग्राहक मिलावटी शराब का विरोध करते हैं तो बहस के साथ मारपीट भी हो जाती है, लेकिन सेल्समैन ग्राहकों पर हमेशा ही भारी पड़ते हैं।

सेल्समैन ग्राहकों को धमकाते भी हैं कि लेना है तो लो नहीं तो भाग जाओ। ऐसी स्थिति में लोग मजबूर होकर मिलावटी शराब सेवन करने को मजबूर हैं।

आबकारी विभाग को इसकी जानकारी होने के बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। क्योंकि ये सारा खेल आबकारी विभाग से मिलीभगत से हो रहा है, इसलिए सेल्समैनों पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं होती है ।


इस तरह कर रहे मिलावट
अंग्रेजी शराब में मिलावट का काम जिले में काफी जोरों से चल रहा है। सीलबंद शराब की बोतल को सरकारी शराब दुकान के कर्मचारी गर्म पानी में डाल देते हैं। इसके बाद सील बड़ी ही आसानी से निकल जाता है। उक्त शराब की बोतल से शराब निकाल कर उसकी जगह पानी या कम दाम वाली शराब को मिलाते हैं।


ब्रांडेड बोतलों में बेच रहे मिलावटी शराब
जिले में शराब शौकीनों को इस बात की थोड़ी सी भी भनक नहीं लग पाती है कि ब्रांडेड एवं महंगी बोतलों में भी मिलावटी शराब बिक रही है। हालांकि कुछ शौकीनों को इस बारे में जानकारी होते हुए भी वह शिकायत नहीं कर पाते जिसका असर शरीर पर पड़ता है एवं शराब शौकीनों को शारीरिक क्षति पहुंचती है।

इस अवैध कारोबार में सरकारी शराब दुकान के कर्मचारी पूरी तरह से संलिप्त हैं। अवैध कमाई के चक्कर में लोगों की जिन्दगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।


रास्ते में की जा रही होगी मिलावट
शराब में मिलावट की जानकारी आ रही है। लेकिन यह शासकीय शराब दुकानों (Government Liquor shops) में संभव नहीं है। जिले के हर शासकीय शराब दुकान में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। रास्ते में खेप आने के दौरान बीच में मिलावटी का काम किया जा सकता है। इसकी जांच कराई जा रही है। जांच के बाद ही स्पष्ट कहा जा सकता है।
धर्मेंद्र शुक्ला, आबकारी उप निरीक्षक

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned