Video: झमाझम बारिश से नदी-नाले उफान पर, कई मार्ग पर आवागमन रहा बंद, घुनघुट्टा डेम के आठों गेट खुले, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

Heavy rain: कल रात से हो रही बारिश ने जन-जीवन पर डाला असर, एनएच ४३ सहित अन्य मार्गों पर बाधित हुआ आवागमन

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 26 Aug 2020, 08:42 PM IST

अंबिकापुर. अविभाजित सरगुजा जिले में मंगलवार की रात से हो रही झमाझम बारिश (Heavy rain) के कारण नदी-नाले उफान पर हैं। सडक़ के ऊपर से पानी बहने के कारण एनएच समेत अन्य मार्गों पर आवागमन बाधित रहा। लोग रपटा और सडक़ से पानी का बहाव कम होने का इंतजार कर रहे हैं।

सरगुजा, सूरजपुर व बलरामपुर जिले में कई जगहों पर ऐसी स्थिति बनी रही। इधर अंबिकापुर-रायगढ़ एनएच 343 पर लमगांव के पास डायवर्सन मार्ग के ऊपर से पानी बह रहा था। ऐसे में दोनों ओर ट्रकों व अन्य चारपहिया वाहनों की लंबी लाइन लगी रही। इसके अलावा अंबिकापुर-प्रतापपुर मार्ग पर महान नदी रपटा पर भी पानी भरा हुआ है।

इधर घुनघुट्टा डेम के आठों गेट खोलने के बाद अलर्ट जारी करते हुए रेड़ नदी के किनारे गांवों में मुनादी करा दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार अविभाजित सरगुजा जिले में अभी दो दिन और बारिश होने की पूरी संभावना है।

सरगुजा, सूरजपुर व बलरामपुर जिले में मंगलवार की रात से सुबह 10 बजे तक झमाझम बारिश (Heavy rain) हुई। इससे तीनों जिले की नदियां व नाले उफान पर आ गए हैं। कहीं रपटा के ऊपर से पानी बह रहा है तो कहीं पुल तक पानी की पहुंच हो गई है।

सरगुजा जिले की बात करें तो अंबिकापुर-रायगढ़ एनएच पर लमगांव के पास रखैत नदी पर पुल का निर्माण चल रहा है। इस मार्ग पर वाहनों का आवागमन डायवर्सन मार्ग से हो रहा है लेकिन बारिश के कारण मार्ग के ऊपर से पानी बह रहा है। (Heavy rain)

ऐसे में आवागमन अवरुद्ध होने से सडक़ के दोनों ओर ट्रकों व अन्य चारपहिया वाहनों की लंबी लाइन लग गई। लोग सडक़ से पानी कम होने का इंतजार कर रहे हैं। इधर मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार तक आसमान में बादल छाए रहने के साथ ही बारिश होने की संभावना है।


घुनघुट्टा डेम के आठों गेट खोले गए, अलर्ट जारी
लगातार बारिश होने से सरगुजा जिले के घुनघुट्टा सहित अन्य जलाशय लबालब हो गए हैं। बुधवार को घुनघुट्टा का जल स्तर काफी बढऩे से आठों गेट खोल दिए गए। दरअसल मैनपाट की तरफ से बारिश का पानी काफी मात्रा में डेम में आ रहा है। इसके मद्देनजर बुधवार की सुबह लगभग 10 बजे जल संसाधन विभाग द्वारा डेम से 1 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसकी वजह से रेड़ नदी का जल स्तर बढ़ गया है। (Heavy rain)

Video: झमाझम बारिश से नदी-नाले उफान पर, कई मार्ग पर आवागमन रहा बंद, घुनघुट्टा डेम के आठों गेट खुले, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

जल संसाधन विभाग द्वारा अलर्ट भी जारी कर दिया गया है। रेड़ नदी के किनारे गांव में मुनादी कराकर लोगों को नदी के पास नहीं जाने को कहा गया है। साथ ही निचले इलाकों व मोहल्लों में रहने वाले लोगों को जरूरत पडऩे पर सुरक्षित स्थान पर ले जाने के निर्देश दिए गए हैं। उनके लिए भोजन इत्यादि व्यवस्था भी किए जाने को कहा गया है।


मैनपाट से कटा कई गांवों का संपर्क
जिले के मैनपाट स्थित घुनघुट्टा व मछली नदी भी बारिश की वजह से उफान पर हैं। दोनों नदियों का जल स्तर बढ़ गया है। इससे मछली नदी व घुनघुट्टा नदी के उस ओर रहने वाले गांव के लोगों का संपर्क मैनपाट से कट गया है। हालांकि कुछ ग्रामीण पैदल नदी पार कर अपनी जरूरतें पूरी कर रहे हैं। वहीं अंबिकापुर-मैनपाट मार्ग पर पेड़ गिरने से आवागमन कुछ देर के लिए बाधित रहा।


महान नदी रपटा पर भरा पानी
3 साल पूर्व सूरजपुर जिला स्थित अंबिकापुर-प्रतापपुर मार्ग पर केरता के पास महान नदी पुल बारिश में बह गया था। बहे पुल की हालत भ्रष्टाचार की कहानी बयां कर रहे थे। करीब 6 माह तक आवागमन पूरी तरह से बंद होने के बाद यहां रपटा का निर्माण कराया गया।

Video: झमाझम बारिश से नदी-नाले उफान पर, कई मार्ग पर आवागमन रहा बंद, घुनघुट्टा डेम के आठों गेट खुले, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

इस पर से होकर ही लोग ढाई साल से आवाजाही कर रहे हैं लेकिन बारिश के दिनों में रपटा के ऊपर से होकर पानी बहता है। रात से हुई बारिश के बाद इस रपटा के काफी ऊपर से पानी बह रहा है, ऐसे में यह मार्ग भी पूरी तरह से बंद हो गया है। रपटा के दोनों ओर खडग़वां पुलिस ने बेरियर लगाकर वाहनों को रोक दिया है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned