धान-मक्के की जगह 1 साल से कर रहे थे गांजे की खेती, 3 आरोपियों के खेत से 1 लाख 15 हजार का पौधा जब्त

Hemp farming: मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने खेत में दी दबिश, पुलिस ने गांजे के पौधों को उखाड़ कर किया जब्त फिर तीनों को भेजा जेल

By: rampravesh vishwakarma

Published: 29 Sep 2020, 10:00 PM IST

अंबिकापुर. धौरपुर पुलिस ने गांजे की खेती (Hemp farming) करते 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों पिछले एक वर्ष से बाड़ी में अवैध गांजे की खेती कर रहे थे। पुलिस ने गांजे के पौधों को उखाड़ कर जब्त कर लिया है।

जब्त गांजे की कीमत 1 लाख 15 हजार रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल (Jail) भेज दिया गया।


सरगुजा पुलिस की नशेडिय़ों व नशे के कारोबारियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत धौरपुर पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस की टीम ने गांजे की खेती करते 3 आरोपियों को धर दबोचा है।

धौरपुर थाना प्रभारी आरके केशरवानी को मंगलवार की सुबह मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम कछार में कुछ ग्रामीण बीते 1 सालों से चोरी-छिपे गांजे की खेती (Hemp farming) कर रहे हैं।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी दल-बल के साथ मौके के लिए रवाना हो गए। इधर सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने आरोपी महावीर राम, सीताराम और डिफो नगेशिया के घर दबिश दी। पुलिस ने तीनों आरोपियों की बाड़ी से भारी मात्रा में गांजे का पौधा बरामद किया।


1 लाख 15 हजार रुपए है कीमत
पुलिस ने जब गांजे के पौधों का तौल किया तो 31 किलो गांजे का पौधा (Ganja plant) तीनों आरोपियों के पास से बरामद हुआ। इसकी कीमत लगभग एक लाख 15 हजार रुपये आंकी गई है। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट (NDPS act) के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned