1 करोड़ 10 लाख की हेरोइन और ब्राउनशुगर के साथ महिला समेत 3 गिरफ्तार, महिला ही है मुख्य सरगना

Heroin and BrownSugar: बिहार के सासाराम निवासी महिला लंबे समय से कर रही है यह कारोबार, झारखंड (Jharkhand) के अपने सहयोगी के साथ कार से हेरोइन (Heroin) और ब्राउनशुगर (Brownsugar) सप्लाई करने पहुंची थी अंबिकापुर, मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने तीनों को दबोचा, हेरोइन पकड़े जाने का यह सरगुजा जिले का पहला मामला

By: rampravesh vishwakarma

Published: 13 Oct 2021, 07:44 PM IST

अंबिकापुर. सरगुजा पुलिस ने अंतरराज्यीय ब्राउन शुगर व हेरोइन तस्करों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। 1 करोड़ 10 लाख के ब्राउन शुगर व हेरोइन के साथ पुलिस ने एक महिला सहित 3 तस्करों को गिरफ्तार किया है। तस्करों के पास से 625 ग्राम ब्राउन शुगर व 110 ग्राम हेरोइन जब्त किया है।

गिरफ्तार महिला अपने एक सहयोगी के साथ कार से अंबिकापुर ब्राउन शुगर व हेरोइन सप्लाई करने आई थी। गांधीनगर पुलिस को मुखबिर की सूचना मिलने पर तीनों को गिरफ्तार किया है। सरगुजा में हेरोइन पकड़े जाने की पहली करवाई बताई जा रही है। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर जेल दाखिल कर दिया है।


मामले का खुलासा करते हुए सरगुजा एसपी अमित तुकाराम कांबले ने बताया कि जिले में नशे के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। आईजी अजय कुमार यादव के निर्देशन निर्देशन में नवा बिहान नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है।

इसी क्रम में गांधीनगर पुलिस को मंगलवार की शाम को मुखबिर से सूचना मिली की थाना क्षेत्र के नमनाकला निवासी रसेल एक्का पिता निर्मल एक्का 23 वर्ष द्वारा अवैध तरीके से बिहार व झारखंड के तस्करों से मिलकर ब्राउन शुगर का अवैध धंधा किया जा रहा है।

वहीं पुलिस को यह भी पता चला कि झारखंड के गढ़वा सोनपुरवा निवासी मृत्युंजय गुप्ता उर्फ पप्पू सोनी पिता स्व. सीताराम गुप्ता 52 वर्ष व बिहार के सासाराम थाना क्षेत्र के ताराचंडी रोड निवासी 48 वर्षीय गीता सोनी उर्फ सोनारिन पति डोमा ब्राउन शुगर का खेप लेकर अंबिकापुर आने वाली है।

Read More: पति के कहने पर पत्नी करती थी ये अवैध धंधा, पुलिस ने किया गिरफ्तार, पहले भी जा चुकी है जेल

इसका इंतजार रसेल एक्का शिवधारी कॉलोनी प्रतापपुर नाका के पास कर रहा है। सूचना पर गांधीनगर टीआई एलरिक लकड़ा टीम गठित कर घेराबंदी कर आरोपियों को पकड़ा। पुलिस ने रसेल एक्का के पास से 20 ग्राम ब्राउन शुगर, मृत्युंजय गुप्ता के पास से 105 ग्राम ब्राउन शुगर (Brown Sugar) तथा गीता सोनी के पास से 500 ग्राम ब्राउन शुगर एवं 110 ग्राम हेरोइन जब्त किया गया।

जब्त ब्राउनशुगर व हेरोइन की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 1 करोड़ 10 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

कार्रवाई में गांधीनगर टीआई अलरीक् लकड़ा के अलावा सहायक उपनिरीक्षक रविंद्र प्रताप सिंह, प्रधान आरक्षक सतीश सिंह, महिला प्रधान आरक्षक राधा यादव, आरक्षक शमिनुल हसन, अमृत सिंह, अतुल सिंह, अमरेश सिंह, सलीम मलिक, वीरेंद्र पैकरा, जयंती बड़ा शामिल रहे।

Read More: जेब मे 2 लाख रुपए का ब्राउन शुगर रखकर ग्राहक की तलाश कर रहा था शहर का युवक, पुलिस ने भेजा जेल


महिला है मुख्य सरगना
मामले का खुलासा के दौरान एसपी के अलावा एडिशनल एसपी विवेक शुक्ला, सीएसपी पैकरा उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार महिला गीता सोनी मुख्य आरोपी है। यह अपने साथी गढ़वा निवासी मृत्युंजय गुप्ता के साथ मिलकर अवैध कारोबार करती है।

यह अवैध ब्राउन शुगर व हीरोइन अंबिकापुर में जाकर खपाने का काम करती है। यह दोनों अंबिकापुर में आकर रसेल एक्का के अलावा अन्य अवैध कारोबारियों को सप्लाई करते हैं। जो कि इनके बताए अनुसार आरोपियों के तह तक पुलिस जाने के प्रयास कर रही है।


कार से लेकर आए थे ब्राउन शुगर व हेरोइन
बिहार के सासाराम निवासी गीता सोनी और झारखंड के गढ़वा निवासी मृत्युंजय गुप्ता कार से हेरोइन व ब्राउन शुगर लेकर खपाने के लिए अंबिकापुर पहुंचे थे। गीता सोनी के खिलाफ अवैध मादक पदार्थ के कारोबार में मामला दर्ज है और वह जेल भी जा चुकी है। वह इस काम में काफी दिनों से संलिप्त है।


काफी उच्च क्वालिटी का है ब्राउन शुगर व हेरोइन
एसपी ने बताया कि आरोपियों के पास से जब्त ब्राउन शुगर वह हेरोइन काफी उच्च क्वालिटी के हैं। फॉरेंसिक जांच में काफी उच्च क्वालिटी पाया गया है। एक कॉफी बाजार में ऊंचे दामों पर बेचे जाते हैं। वही सरगुजा में अब तक की एनडीपीएस के मामले में सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है। जबकि हेरोइन पकड़े जाने का यह पहला मामला है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned