सड़क किनारे रो रही थीं 3 नाबालिग लड़कियां, पुलिस ने पूछा तो बताई युवक व महिला की ये करतूत

Human trafficking: अच्छी नौकरी का झांसा देकर ले जा रहे थे दिल्ली (Delhi), युवक पकड़ा गया जबकि महिला हो गई फरार, पुलिस (Police) ने तीनों नाबालिग को चाइल्ड लाइन (Child line) को सौंपा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 13 Jan 2021, 09:51 PM IST

अंबिकापुर. सरगुजा संभाग में मानव तस्करी (Human trafficking) रुकने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन संभाग से नाबालिग बच्चियों (Minor girls) को बहला फुसला कर नौकरी लगवाने के नाम पर दूसरे प्रदेश में ले जाया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला अंबिकापुर के गांधीनगर थाना क्षेत्र (Gandhinagar police station) में आया है। पुलिस ने मंगलवार को 3 नाबालिग लड़कियों को बरामद किया है।

तीनों सड़क किनारे रो रही थीं। इन तीनों को एक महिला व युवक द्वारा दिल्ली ले जाया जा रहा था। पुलिस ने इस मामले में एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। वहीं परिजनों के नहीं आने पर पुलिस ने तीनों नाबालिग को चाइल्ड लाइन (Child line) को सौंप दिया गया है।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कुसमी थाना क्षेत्र की 3 नाबालिग लड़कियों को दिल्ली में अच्छी नौकरी (Good job) लगवा देने के नाम पर एक महिला व युवक द्वारा दिल्ली (Delhi) ले जाया जा रहा था। महिला तीनों लड़कियों के साथ मंगलवार की सुबह गांधीनगर थाना क्षेत्र में रुकी थी। इस दौरान तीनों लड़कियां महिला के चंगुल से भाग गईं और सड़क किनारे रो रहीं थीं।

इसकी जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची और लड़कियों से पूछताछ की तो उन्होंने पूरी कहानी बताई। जिस स्थान पर तीनों लड़कियों को रखा गया था, वहां पुलिस ने छापेमारी की तो मुकेश नामक युवक मिला, जबकि महिला फरार हो गई। महिला का नाम फगनी बताया जा रहा है।

पुलिस मुकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने इसकी जानकारी नाबालिगों के परिजन को भी दे दी है। मंगलवार की शाम तक जब परिजन नहीं पहुंचे तो तीनों नाबालिगों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया।


चाइल्ड लाइन ने दर्ज किया बयान
चाइल्ड लाइन की टीम ने तीनों नाबालिग का बयान दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि फगनी कुसमी थाना क्षेत्र के ग्राम घुंघरूपाट की रहने वाली है। वहीं मुकेश फुटार का रहने वाला है। दोनों आपस में रिश्तेदार हैं। इससे पूर्व भी ये दोनों कुसमी क्षेत्र की कई बालिकाओं को काम दिलाने के बहाने दिल्ली (Delhi) ले गए हैं।

वहीं इन तीनों को भी काम दिलाने के बहाने दिल्ली ले जाया जा रहा था। लड़कियों का कहना है कि हम तीनों दिल्ली जाते तो वहां से 3 लड़कियों को छुट्टी दी जाती।


पूर्व में भी कई लड़कियों को ले जा चुके
तीनों नाबालिग लड़कियों ने जिस तरह चाइल्ड लाइन को बयान दिया है। इससे पता चलता है कि ये दोनों महिला-पुरूष काफी दिनों से मानव तस्करी का काम कर रहे हैं। दिल्ली व आस-पास के क्षेत्रों में कुसमी क्षेत्र की कई लड़कियां गिरफ्त में हैं। वहीं पुलिस ने इन मामलों में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

जबकि तीनों नाबालिग ने महिला के बारे में पुलिस को बताया है। घटना के दो दिन बीतने के बाद भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किया जाना समझ से परे है।


युवक से की जा रही पूछताछ
मंगलवार की सुबह 3 नाबालिग लड़कियों को बरामद किया गया है। इस मामले में एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। मामला बलरामपुर क्षेत्र से जुड़ा है। वहीं बच्चियों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया है।
अनूप एक्का, थाना प्रभारी, गांधीनगर

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned