Breaking news: सीएम रमन की विकास यात्रा के बारे में नेता प्रतिपक्ष टीएस ने कह दी इतनी बड़ी बात

विकास यात्रा में किया जा रहा सरकारी तंत्र का दुरुपयोग, कांग्रेस के जन घोषणा पत्र के लिए लोगों से लिए जा रहे सुझाव

By: rampravesh vishwakarma

Published: 23 May 2018, 04:19 PM IST

अंबिकापुर. भाजपा की विकास यात्रा केवल आडंबर मात्र है जिसमें मैं स्वस्थ प्रजातांत्रिक प्रक्रिया नहीं मानता। यदि सचमुच में विकास होता तो दिखाना नहीं पड़ता। मुख्यमंत्री को लोगों के पास जाकर बताना नहीं पड़ता। विकास यदि होता तो वह गांवों, शहरों, कस्बों व मोहल्लों में दिखता। विकास यात्रा केवल शासन के तंत्र का दुरुपयोग है। इसका उपयोग कर जगह-जगह भीड़ जुटाई जा रही है और विकास बताया जा रहा है। शासन के करोड़ों रुपए विकास यात्रा में बहाए जा रहे हैं।


ये बातें छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि विकास यात्रा में सरकारी तंत्र का इस कदर दुरुपयोग किया जा रहा है कि अंबिकापुर के जिस कलाकेंद्र मैदान को मेला के लिए ठेका दिया गया है उसे समय से पहले हटाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वहां आप देख सकते हैं कि रुपयों की कैसे बर्बादी होगी।

लाखों रुपए के डोम बनाए जाएंगे, टेंट लगाए जाएंगे। ये केवल इसलिए किया जाएगा ताकि मुख्यमंत्री वहां आकर विकास की बातें कह सकें। इससे पूर्व नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव द्वारा कांग्रेस के जन घोषणा पत्र के लिए सुझाव लिए गए। छत्तीसगढ़ की राजनीति में यह पहली बार हो रहा है कि किसी पार्टी द्वारा लोगों के सुझाव अपने घोषणा-पत्र के लिए मांगे जा रहे हैं।

इसके लिए नेता प्रतिपक्ष सहित उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं द्वारा हर तबके तथा हर क्षेत्र के लोगों से फेस-टू-फेस बातें की जा रही हैं। लोगों द्वारा मिले सुझावों को घोषणा पत्र में शामिल किया जा रहा है।


जुमले के रूप में नहीं ले रहे घोषणा-पत्र
टीएस सिंहदेव ने कहा कि हमलोग घोषणा-पत्र को जुमले के रूप में नहीं ले रहे हैं। भाजपा के प्रदेश मंत्री का यह कहना कि हमारा जन घोषणा पत्र दिखावा है। यह उनकी सोच है। हम लोगों से सुझाव ले रहे हैं। यदि उसे पूरा नहीं करेंगे तो तो आने वाले दिनों में उनका सामना करना मुश्किल हो जाएगा। इसलिए कांग्रेस यह चाहती है कि वह अपने जनघोषणा पत्र में शामिल 90 प्रतिशत बातों को धरातल पर लाए।


भ्रष्टाचार के मामले में गंभीर है कांग्रेस
एक सवाल के जवाब में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वे अब तक की अपनी राजनीति में भ्रष्टाचार से दूर ही रहे हैं। उनका प्रयास रहता है कि वे इससे काफी दूर रहें। जब वे उससे दूर रहेंगे तो दूसरे को दूर रख सकेंगे और भ्रष्टाचार मुक्त काम हो सकेगा। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर कांगे्रस गंभीर है। अब तक भ्रष्टाचार के जितने मामले आए हैं उसे 3-6 महीने के अंदर आयोग का गठन कर निराकरण करने का काम किया जाएगा।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned