लॉकडाउन में पुलिस की सख्ती: 2 दिन में बेवजह घूम रहे 275 वाहन चालक पकड़े गए, छुड़वाने नेताओं के आ रहे फोन

Lockdown: आईजी के निर्देश पर 2 दिन के भीतर कोतवाली, गांधीनगर थाना व मणिपुर चौकी पुलिस ने 2 दिन के भीतर की इतनी कार्रवाई, कार्रवाई में नेता बन रहे रोड़ा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 06 Apr 2020, 07:19 PM IST

अंबिकापुर. शहर में लॉकडाउन व धारा 144 लागू है। इस दौरान कई ऐसे लोग हैं जो दवा व सब्जी खरीदने के नाम पर बाइक व चारपहिया वाहन से अनावश्यक घूमते नजर आ रहे हैं। पुलिस द्वारा चेतावनी देने के बाद भी लोग लॉकडाउन का उल्लंघन करते नजर आ रहे हैं। इसे लेकर शहर की पुलिस अब सख्त हो गई है।

दो दिन के भीतर शहर की पुलिस ने धारा 144 का उल्लंघन करने पर 275 से ज्यादा बाइक चालकों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की है। इनमें से कोतवाली ने 100 बाइक चालकों से 25 हजार रुपए समंस शुल्क भी वसूला है। वहीं लॉकडाउन में अनावश्यक घूमते पाए जाने पर पुलिस ने 14 बाइक भी जब्त की है।

पुलिस ने बताया कि इन सभी वाहनों को अब लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही छोड़ा जाएगा। सोमवार को कई लोग अपने वाहन के लिए थाने के चक्कर लगाते रहे। इधर पुलिस ने बिना हेलमेट घूमते प्रधान आरक्षक व एक बाइक पर 2 पुलिसकर्मी को घूमते देख उनका भी चालान काटा है। पुलिस की कार्रवाई में नेता भी रोड़ा बन रहे हैं, अपने नुमाइंदों को छुड़ाने वे पुलिस पर दबाव बना रहे हैं।


पुलिस ने सख्ती दिखानी शुरू की तो शहर में लॉकडाउन का असर दिखने लगा। सोमवार को काफी कम लोग सडक़ पर नजर आए। आईजी रतन लाल डांगी के निर्देश पर जिले की पुलिस लॉकडाउन को लेकर अब पूरी तरह सख्त हो गई है।

पिछले दो दिन से शहर के हर चौक-चौराहों पर बैरिकेटिंग लगाकर वाहन अनावश्यक घूम रहे वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने जब बाइक व चार पहिया वाहन चालकों को रोक कर उनसे लॉकडाउन में शहर में घूमने का कारण पूछा तो अधिकतर लोगों ने दवा व सब्जी खरीदने को जाना बताया।

कोतवाली पुलिस ने दो दिन के अंदर अलग-अलग स्थानों पर वाहन चेकिंग कर 100 से ज्यादा बाइक चालकों के खिलाफ कार्रवाई की है। पुलिस ने इनसे 25 हजार रुपए का समन्स शुल्क वसूला है। वहीं गांधीनगर थाना क्षेत्र से दो दिन के अंदर 122 बाइक चालकों व मणिपुर क्षेत्र अंतर्गत दो दिन के अंदर 53 बाइक चालकों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। पुलिस की इस कार्रवाई से लॉकडाउन में अनावश्यक घूम रहे लोगों की संख्या कम होने लगी है।


14 बाइक जब्त
कोतवाली पुलिस ने दो दिन के अंदर शहर में लॉकडाउन के दौरान अनावश्यक घूम रहे १४ लोगों का वाहन जब्त कर लिया है। पुलिस ने बताया कि आईजी के निर्देश पर बाइक जब्त की गई हैं, जब्त बाइक अब लॉकडाउन खत्म होने के बाद ही न्यायालय के आदेश पर छोड़ा जाएगा।


बाइक में दो सवारी, धारा 144 का उल्लंघन
कोतवाली टीआई विलियम टोप्पो ने बताया कि धारा 144 लागू होने के बाद अगर एक बाइक पर दो लोग सफर करते हैं तो यह धारा 144 का उल्लंघन है। वहीं चार पहिया वाहन में दो से अधिक सवार होकर सफर करना भी धारा 144 का उल्लंघन है। शहर में इस तरह के अधिक लोग पाए जा रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई तेज कर दी गई है।


पुलिस निकाल रही पैदल मार्च
लॉकडाउन व धारा 144 नियम का पालन कराने के लिए कोतवाली पुलिस द्वारा शहर में पैदल मार्च भी निकाला जा रहा है। पैदल मार्च में एक पुलिस अधिकारी व चार जवान तैनात किए गए हैं। इसके लिए 6 टीम का गठन किया गया है, जो शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में भ्रमण करती है।


पुलिस का भी कटा चलान
सूत्रों के अनुसार लॉकडाउन व धारा 144 के दौरान बिना हेलमेट व दो सवारी बाइक से घूमते पाए जाने पर प्रधान आरक्षक व आरक्षक का भी चलाना काटा गया है। इन्हें भी नियम का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।


एक एसआई लाइन अटैच
रविवार की रात को प्रधानमंत्री के निर्देश पर कोरोना के खिलाफ लड़ाई व एकजुटता दिखाने के लिए अपने-अपने घरों के बाहर दीप प्रज्जवलित करने का निर्देश दिया था। इसे लेकर शहरवासियों ने भी अपने-अपने घरों व बालकनी में दीप प्रज्ज्वलित किया। इस दौरान कई ऐसे लोग थे जो पटाखा व आतिशबाजी भी करना शुरू कर दिया, जो कि धारा 144 का उल्लंघन है।

इस दौरान शहर के एक चौक पर स्थानीय लोगों ने रात 9 बजे दीप प्रज्जवलित करने के बाद पटाखा फोडऩा शुरू कर दिया। इसी चौक पर कोतवाली के एक एसआई की भी ड्यूटी लगाई गई थी। एसआई द्वारा ड्यूटी में लापरवाही पाए जाने पर विभाग द्वारा उसे लाइन अटैच कर दिया गया।


शहर के नेता कार्रवाई में बन रहे रोड़ा
लॉकडाउन व धारा 144 का उल्लंघन करते पाए जाने पर पुलिस ने कई बाइक सवारों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की है। वहीं कई की बाइक व चारपहिया वाहनों को जब्त कर लिया गया है। इस दौरान कई लोगों ने अपने पहुंच का परिचय दिया। पुलिस का कहना है कि शहर के नेता लॉकडाउन का पालन कराने में सहयोग नहीं कर रहे हैं। बल्की कई बड़े नेता बाइक व चारपहिया वाहन छोडऩे का दबाव बना रहे हैं।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned