पुलिस हिरासत में प्रेमी-प्रेमिका की हत्या के आरोपी की संदेहास्पद मौत, थाना प्रभारी समेत 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड

पत्रिका की खबर के बाद एसपी ने दंडाधिकारी जांच के लिए कलक्टर को दिया प्रतिवेदन, पिता ने ही कराई थी बेटी और उसके प्रेमी की हत्या

By: rampravesh vishwakarma

Published: 31 Aug 2018, 04:19 PM IST

अंबिकापुर. झारखंड के छत्तरपुर थानांतर्गत ग्राम अमवा के शिक्षक भोला साव व उसकी नाबालिग प्रेमिका शगुफ्ता परवीन १५ वर्ष की हत्या में शामिल एक आरोपी इकबाल की 29 अगस्त को पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने जो कहानी बताई है उसके अनुसार लड़की की हत्या स्थल पर ले जाने के दौरान इकबाल वाहन से कूद गया था और दूसरी ओर से आ रहे पिकअप की चपेट में आकर उसकी मौत हो गई थी।

पुलिस की इस कहानी पर पहले ही दिन 'पत्रिका' ने सवाल उठाया था। इसके बाद बलरामपुर एसपी ने मामले में पस्ता थाना प्रभारी व 3 आरक्षकों को सस्पेंड कर दिया है। वहीं मामले की मजिस्ट्रियल जांच के लिए प्रतिवेदन कलक्टर को दिया है।

 

Lovers whose murder

गौरतलब है कि झारखंड के छत्तरपुर थानांतर्गत ग्राम अमवा निवासी शिक्षक भोला साव की 13 अगस्त को गला रेतकर लातेहार के बारेसाढ़ जंगल में हत्या कर दी गई थी। वहीं उसकी नाबालिग प्रेमिका शगुफ्ता परवीन 15 वर्ष की हत्या 14 अगस्त को बलरामपुर जिले के पस्ता थाना अंतर्गत ग्राम कंडा नगेशियापारा जंगल में गोली मारकर की गई थी।

बलरामपुर पुलिस की जांच में मामला ऑनर किलिंग का निकला। मृतिका के पिता अकबर हुसैन ने ही बेटी व उसके पे्रमी की हत्या कराने 4 लाख रुपए की सुपारी दी थी। इस मामले में पुलिस ने शार्प शूटर अजिमुल्ला, इकबाल, जीन्नत हुसैन, जलाल व पहलवान को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में यह बात सामने आई थी कि इकबाल ने अन्य आरोपियों के साथ मिलकर शिक्षक भोला साव की गला रेतकर हत्या की थी। जबकि शगुफ्ता को अजिमुल्ला ने गोली मारी थी। इस दौरान इकबाल भी मौके पर मौजूद था।

 

Others accused

पुलिस हिरासत में हुई थी मौत
29 अगस्त की सुबह पता चला कि आरोपी इकबाल की पुलिस हिरासत में मौत हो गई है। इसमें पुलिस ने बताया था कि कंडा स्थित घटनास्थल पर ले जाने के दौरान आरोपी इकबाल भागने के चक्कर में पुलिस की गाड़ी से कूद गया था। इस दौरान विपरीत दिशा से आ रही पिकअप की चपेट में आकर उसकी मौत हो गई है।

इसे लेकर पत्रिका द्वारा कई सवाल उठाए गए थे। खबर का प्रकाशन भी प्रमुखता से किया गया था। इधर पुलिस अपनी उक्त बात पर ही अडिग है कि वाहन से कूदकर आरोपी की मौत हुई है।


थाना प्रभारी समेत 4 सस्पेंड
मामले में बलरामपुर एसपी टीआर कोशिमा ने इकबाल की मौत के बाद पस्ता थाना प्रभारी धीरेंद्र बंजारे, आरक्षक मुन्ना यादव, विजय सोनवानी व विजय यादव को सस्पेंड कर लाइन अटैच कर दिया है। वहीं मामले की दंडाधिकारी जांच के लिए प्रतिवेदन बलरामपुर कलक्टर को दिया है।


गाड़ी से कूदने के बाद आया पिकअप की चपेट में
घटनास्थल ले जाने के दौरान आरोपी इकबाल भागने के चक्कर में पुलिस वाहन से कूद गया था। इसी बीच विपरीत दिशा से आ रही पिकअप की चपेट में आ जाने से उसकी मौत हो गई। फिलहाल आगे की कार्रवाई की जा रही है।
टीआर कोशिमा, एसपी बलरामपुर

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned