मैनपाट के बीहड़ में बसे गांव में पहाड़ चढ़कर पहुंचे शिक्षकों-अधिकारियों ने बच्चों तक पहुंचाया राशन

Mainpat: सूखे राशन (Ration) का सत्यापन कर शिक्षा विभाग (Education department) बच्चों के घर तक पहुंचा रहा राशन, 63 दिनों से चल रहा यह काम

By: rampravesh vishwakarma

Published: 18 Dec 2020, 10:11 PM IST

अंबिकापुर. मैनपाट (Mainpat) के सुदूर क्षेत्रों तक विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों के घर सूखा राशन (Dry ration) पहुंच रहा है। इसके लिए मैनपाट विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी (BEO) एसडी पांडेय के मार्गदर्शन में एबीईओ तजमुल हसन, बीआरसीसी रमेश सिंह, मंडल संयोजक विनय जायसवाल सहित विकासखण्ड की टीम 63 दिनों के सूखा राशन का सत्यापन कर प्राथमिक व माध्यमिक शाला के विद्यार्थियों के घर तक शिक्षकों के माध्यम से पहुंचा रही है।


इसी कड़ी में 17 दिसंबर को मैनपाट (Mainpat) के ग्राम पंचायत कतकालो के पहाड़ पर स्थित विद्यालय प्राथमिक शाला कोरवापारा में मध्यान्ह भोजन सूखा राशन वितरण हेतु एबीईओ तजमुल हसन व शिक्षक पहुंचे।

एबीईओ तजमुल हसन, जॉन तिर्की प्राचार्य हाई स्कूल कतकालो, शिक्षक अनुलाल साय, अवधेश सिंह सेंगर एवं स्व सहायता समूह के अध्यक्ष, सचिव, सदस्य सूखा राशन कंधे में ढोकर पहाड़ पर चढऩा प्रारंभ किए।

मैनपाट के बिहड़ में बसे गांव में पहाड़ चढ़कर पहुंचे शिक्षकों-अधिकारियों ने बच्चों तक पहुंचाया राशन

रास्ते में 5 से 6 स्थानों पर आराम करते हुए लगभग 1.30 घंटे में प्राथमिक शाला कोरवापारा पहुंचे। यहां सभी बच्चों के घर जाकर पालकों एवं बच्चों को सूखा राशन वितरण किया गया।


पहाड़ के नीचे रह रहे बच्चों को भी बांटा राशन
कोरवापारा में राशन वितरण (Ration distribution) पश्चात लगभग 2 बजे सभी पहाड़ से नीचे पहुंचे। इसके बाद उन्होंने प्राथमिक शाला माझीपारा व डूमरपारा के बच्चों को भी सूखा राशन का वितरण किया। राशन पाकर बच्चों के चेहरे पर मुस्कुराहट देखी गई।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned