साढ़ू की बेटी के प्रेमी को साले के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट, फिर पहाड़ पर फेंक दी थी लाश

Murder case: शराब में जहर (Poison) मिला पड़ोसी के बेटे को पिलाकर उतार दिया था मौत के घाट, दो साल पहले हुई किशोर के अंधे कत्ल (Blind murder) की गुत्थी सुलझी, 2 आरोपी गिरफ्तार

By: rampravesh vishwakarma

Published: 29 Dec 2020, 10:55 PM IST

अंबिकापुर. बलरामपुर पुलिस ने 2 साल पहले एक 17 वर्षीय किशोर के अंधे कत्ल (Blind murder) की गुत्थी सुलझाते हुए 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक मृतक का पड़ोसी है। दरअसल मृतक का पड़ोसी की साढू़ की बेटी से प्रेम-प्रसंग (Love affair) था, लेकिन आरोपी को यह पसंद नहीं था।

इसी बात को लेकर आरोपी ने अपने साले के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से मृतक को अपने घर बुलाकर शराब में जहर मिलाकर पिला दिया, इससे उसकी मौत (Death) हो गई, फिर उसका शव पहाड़ पर ले जाकर छिपा दिया था।


एसपी रामकृष्ण साहू ने मंगलवार को पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि बलरामपुर थाना अंतर्गत ग्राम पचावल बैगापारा निवासी 17 वर्षीय अंकित कुजूर पिता सायमन कुजूर का 16 नवंबर 2018को मधीटोंगरी के ऊपर पत्थरों के बीच शव मिलने से सनसनी फैल गई थी।

मृतक के पीएम रिपोर्ट में कीटनाशक देकर हत्या (Murder) करने की पुष्टि के बाद पुलिस अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 302 के तहत अपराध दर्ज कर जांच में जुटी थी। लेकिन इस मामले में पुलिस को आरोपियों का कोई सुराग (Avidence) नहीं मिल पा रहा था। एसपी ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों की धरपकड़ के निर्देश दिए।

इसके बाद एएसपी प्रशांत कतलम व एसडीओपी गौतम कुमार के दिशा-निर्देश पर प्रकरण के हर बिंदु पर पुलिस टीम ने जांच करते हुए संदेह के आधार पर मृतक के पड़ोसी बैगापारा निवासी 35 वर्षीय राजकुमार उर्फ चौहकी पिता लमरू कोड़ाकू व ग्राम सारंगपुर निवासी 25 वर्षीय शिवबालक राम उर्फ नटवा पिता जगेश्वर को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने मृतक की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया।

साढ़ू की बेटी के प्रेमी को साले के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट, फिर पहाड़ पर फेंक दी थी लाश

इस पर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। कार्रवाई में बलरामपुर थाना प्रभारी सुरेंद्र उके, एएसआई राजेश शाह, प्रधान आरक्षक चंद्रकुमार राजपूत, मालती तिवारी, आरक्षक कुमार सानू, संजय साहू, लालदेव साय व गजेंद्र भगत शामिल रहे।


योजना बनाकर ले ली जान
एसपी ने बताया कि आरोपी राजकुमार अपनी साढू़ भाई की बेटी को 4 साल पहले अपने घर पढ़ाने के लिए लाया था। इसी बीच पड़ोसी सायमन कुजूर के बेटे अंकित का लड़की से प्रेम संबंध स्थापित हो गया। अंकित हमेशा आरोपी के घर आता-जाता था, वह लड़की से शादी करना चाहता था, लेकिन राजकुमार को यह मंजूर नहीं था।

इसके बाद उसने अपने साले शिवबालक के साथ मिलकर अंकित की हत्या करने की योजना बना ली। फिर 15 नवंबर 2018 की शाम घर पर मुर्गा बनाकर अंकित को खाने पर बुलाया। यहां आरोपियों ने शराब में कीटनाशक मिलाकर अंकित को पिला दिया, इससे कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई।


बाइक पर ले गए थे शव
आरोपियों ने अंकित की हत्या करने के बाद देर रात लगभग 1 बजे बाइक से उसका शव ले जाकर मधीटोंगरी के ऊपर पत्थरों के बीच छिपा दिया, फिर घर आ गए। पुलिस ने आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त बाइक क्रमांक सीजी 09 डी-8843, शराब में मिलाकर दी गई कीटनाशक दवा भी बरामद किया है।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned