सरगुजा के ग्रामीण अंचल की प्रिया ने नीट में मारी बाजी, किसान की बेटी का डॉक्टर बनने का मार्ग प्रशस्त

NEET exam: प्रयास आवासीय विद्यालय में अध्ययनरत है साधारण किसान परिवार की बेटी प्रिया, प्रभारी मंत्री ने दिया था लैपटॉप

By: rampravesh vishwakarma

Published: 25 Oct 2020, 11:59 PM IST

अंबिकापुर. सरगुजा के ग्रामीण क्षेत्रों से भी अब गुदड़ी के लाल निकल रहे हैं। साधारण किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाली कुमारी प्रिया पैकरा ने इसकी मिसाल पेश की है।

प्रिया ने प्रयास आवासीय विद्यालय अम्बिकापुर के शिक्षकों के मार्गदर्शन तथा जिला प्रशासन के सहयोग से नीट 2020 (NEET 2020) परीक्षा में सफलता प्राप्त कर डॉक्टर (Doctor) बनने का मार्ग प्रशस्त किया है।


प्रिया पैकरा ने प्रयास आवासीय विद्यालय से नीट की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले अनुसूचित जनजाति वर्ग में पहला तथा सभी वर्गों में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। प्रिया पैकरा ने इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, प्रयास विद्यालय के शिक्षको के मार्गदर्शन तथा जिला प्रशासन के सहयोग को दिया हैं।

अंबिकापुर विकासखंड के ग्राम सकालो निवासी प्रिया पैकरा शुरू से ही मेधावी रही है। प्रिया ने बताया कि पिता राकेश पैकरा कृषक है तथा कृषि एवं मजदूरी से परिवार का भरण पोषण करते हैं और माता प्रमिला गृहणी है। तीन बहनों में प्रिया सबसे बड़ी है।

प्रिया ने बताया कि प्रयास आवासीय विद्यालय अम्बिकापुर में अध्ययन कर इस वर्ष कक्षा 12वीं की परीक्षा 89.9 प्रतिशत के साथ उत्तीर्ण की वही मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट में 316 अंक के साथ क्वालीफाई किया।


प्रभारी मंत्री के हाथों मिला था लैपटॉप
कलक्टर संजीव कुमार झा ने प्रिया पैकरा के मेधावी होने और डॉक्टर बनने की प्रबल इच्छा को दृष्टिगत रखते हुए नीट की तैयारी में मदद हो सके इसके लिए आदिवासी विभाग के अधिकारियों को लैपटॉप देने के निर्देश दिए थे।

कुछ दिनों बाद प्रभारी मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया (Shiv Dahariya) का अम्बिकापुर आगमन होने पर उनके हाथों से प्रिया को लैपटॉप प्रदान किया गया था।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned