scriptNew technology in artificial insemination, 90 of the calf is born onl | कृत्रिम गर्भाधान में नई तकनीक के उपयोग का पशुपालकों को लाभ, ९० प्रतिशत बछिया का ही होता है जन्म | Patrika News

कृत्रिम गर्भाधान में नई तकनीक के उपयोग का पशुपालकों को लाभ, ९० प्रतिशत बछिया का ही होता है जन्म

सरगुजा में कृत्रिम गर्भाधान में ऐसे सीमेन का उपयोग किया जा रहा है जिसमें 90 प्रतिशत बछिया ही जन्म लेती है। पशुपालक लाभान्वित हो रहे हैं और गायों का नस्ल भी सुधार रहा है। सेक्स शार्टेड सीमेन से जिले में लगभग ६00 कृत्रिम गर्भाधान का कार्य किया गया और ८5 बछिया अभी तक प्राप्त हो चुके हैं। सरगुजा पशुधन विकास विभाग ने अमेरिकन कंपनी के सीमेन से नया प्रयोग किया है ताकि किसानों को इस नई तकनीक से कृत्रिम गर्भाधान का लाभ मिल सके और सरगुजा में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा मिल सके।

अंबिकापुर

Published: May 25, 2022 08:29:17 pm

अंबिकापुर. सरगुजा में कृत्रिम गर्भाधान में ऐसे सीमेन का उपयोग किया जा रहा है जिसमें 90 प्रतिशत बछिया ही जन्म लेती है। पशुपालक लाभान्वित हो रहे हैं और गायों का नस्ल भी सुधार रहा है। सेक्स शार्टेड सीमेन से जिले में लगभग ६00 कृत्रिम गर्भाधान का कार्य किया गया और ८5 बछिया अभी तक प्राप्त हो चुके हैं। सरगुजा पशुधन विकास विभाग ने अमेरिकन कंपनी के सीमेन से नया प्रयोग किया है ताकि किसानों को इस नई तकनीक से कृत्रिम गर्भाधान का लाभ मिल सके और सरगुजा में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा मिल सके।
New technology in artificial insemination, 90 of the calf is born onl
New technology in artificial insemination, 90 of the calf is born onl

गौरतलब है कि जिले में कृत्रिम गर्भधारण के लिए सेक्स शॉर्टेड सीमेन का उपयोग किया जा रहा है। यह सीमेन को उत्तराखंड से सरगुजा लाया गया है, जो कि अमेरिकन कंपनी का है। इस सीमेन के जरिए ९० प्रतिशत बछिया ही जन्म लेतीं हैं।

पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. सीके मिश्रा ने बताया कि कृत्रिम गर्भाधान का उद्देश्य पशुओं के नस्ल में सुधार करना होता है। नस्ल परिवर्तन से पशुओं में दूध उत्पादन की क्षमता बढ़ती है और पशुपालक को अधिक लाभ होता है जिससे उनकी आर्थिक स्तर में सुधार होता है। कृत्रिम गर्भाधान का कार्य विभाग पिछले कई सालों से करता रहा है लेकिन नए प्रयोग का परिणाम सरगुजा को दुग्ध क्रांति को ओर आगे बढ़ा रहा है।

अब 100 में से 90 बछिया
पशु चिकित्सक डॉ. सीके मिश्रा ने बताया कि अब तक कृत्रिम गर्भाधान से पशुओं में जो बच्चे होते थे उसमें मादा और नर होने की संभावना 50-50 प्रतिशत होती थी किन्तु अब जिले में नया सेक्स शॉर्टेड सीमेन का उपयोग किया जा रहा है, इसमें मादा होने की संभावना 90 प्रतिशत से भी अधिक है।
सेक्स शार्टेड सीमेन से जिले में लगभग ६०० कृत्रिम गर्भाधान का कार्य किया गया और ८5 बछिया अभी तक प्राप्त हो चुके हैं। कलक्टर के निर्देश पर ये सीमेन उत्तराखंड से मंगाया गया है ताकि जिले के किसानों को इस नई तकनीक से कृत्रिम गर्भाधान का लाभ मिल सके।

बछड़ों की संख्या में आएगी कमी
आजकल खेती में मशीनरी का उपयोग ज्यादा होने से किसान बछड़ा का उपयोग खेती किसानी में बहुत कम करते हैं। किसान इन बछड़ों को खुला छोड़ देते है जो सड़क में घूमते है और समस्या खड़ी करते हैं। इसके साथ ही इनके कारण सड़क दुर्घटना भी होती है।
चूंकि सेक्स शॉर्टेड सीमेन के उपयोग से नर बच्चा पैदा होने की 90 प्रतिशत तक संभावना होती है जिससे मादा की संख्या बढ़ेगी और खुला छोडऩे की समस्या भी अत्यंत कम हो जाएगी ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

हैदराबाद के एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे RCP सिंह तो BJP में शामिल होने की लगने लगी अटकलें, भाजपा ने कही ये बातउदयपुर कन्हैया हत्याकांड का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर युवक गिरफ्तारव्यापारी के हमलावरों को गिरफ्तार नहीं कर पाई पुलिस, नाराज व्यापारियों ने दी आंदोलन की धमकीविश्व वैदिक सनातन संघ प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने अधिवक्ता हरिशंकर व विष्णु जैन को ज्ञानवापी केस से हटायाChennai: ओटीपी साझा करने को लेकर विवाद बढ़ा, कैब चालक ने सवारी को दिया धक्का, मौतउदयपुर व अमरावती की घटनाओं से साक्षी महाराज चिंतित, बोले सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार कीमौसेरी बहन और जीजा निकले हत्यारे, पुलिस ने किया अंधे कत्ल से पर्दाफाशहोगा प्रदूषण नियंत्रण... वेस्ट सब्जी से बनी प्लेट है खास, पानी डालने पर भी थाली नहीं होगी लीक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.