Video: नदी पर पुल नहीं, झेलगी में ढोकर उफनती नदी पार कराई गई गर्भवती

नदी के दूसरी ओर खड़ी रही महतारी एक्सप्रेस, 2-3 किमी झेलगी पर ढोकर लाए परिजन, पार कराई घुनघुट्टा नदी

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 01 Aug 2020, 04:10 PM IST

Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

अंबिकापुर. विकास के बड़े-बड़े दावे करने वाली सरकार तथा उसके क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को अपनी राजनीति चमकाने से फुरसत नहीं मिल रही है कि वे जनता की पीड़ा को देख सकें। चुनाव के समय तो बड़े-बड़े वादे ये जनता से करते हैं लेकिन जब जीतकर आते हैं तो उन्हें ही भूल जाते हैं।

जिले के कई गांव अभी भी मूलभूत सुविधाओं सडक़, पुल, पानी से जूझ रहे हैं। ऐसे में ग्रामीणों को बीमारी के समय या प्रसव पीड़ा के दौरान उफनती नदी भी पार कर अस्पताल जाना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला मैनपाट विकासखंड से सामने आया है।

शनिवार की सुबह प्रसव पीड़ा से तड़प रही गर्भवती को झेलगी में ढोकर परिजनों द्वारा उफनती नदी पार कराई गई। इसके बाद नदी के दूसरी ओर खड़ी महतारी एक्सप्रेस से उसे अस्पताल तक पहुंचाया गया। करीब महीनेभर पूर्व ही स्वास्थ्य मंत्री, खाद्य मंत्री व कलक्टर ने बैठक लेकर जिले में स्वास्थ्य सुविधा पर जोर देकर कहा था कि झेलगी में ढोने की नौबत किसी को नहीं आने देंगे, लेकिन मैनपाट की ये तस्वीर तो कुछ और ही बयां करती है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned