scriptOnline cheating of 14 lakhs in the name of Lenskart franchise | लेंसकार्ट फ्रेंचाइजी के नाम पर इंजिनियर से 14 लाख की ऑनलाइन ठगी | Patrika News

लेंसकार्ट फ्रेंचाइजी के नाम पर इंजिनियर से 14 लाख की ऑनलाइन ठगी

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर क्षेत्र में नामी आई वियर कंपनी लेंसकार्ट के फ्रेंचाइजी दिलवाने के नाम पर एक इंजीनियर से 14 लाख की ठगी का मामला सामने आया है. इंजीनियर ने निजी थाने में शिकायत दर्ज करवाई है.

अंबिकापुर

Published: May 27, 2022 03:32:59 pm

अंबिकापुर. छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर से एक ठगी का मामला सामने आया है. नामी कंपनी लेंसकार्ट की फ्रेंचाइजी दिलाने के नाम पर निजी कंपनी में कार्यरत इंजीनियर से 14 लाख रुपये की ठगी कर ली गई। जब इंजीनियर ने पुरे 14 लाख रूपये जमा कर दिए उसके बाद भी फ्रेंचाइजी दिए जाने में आनाकानी किये जाने के बाद इंजीनियर ने सीधे कंपनी से संपर्क किया तब जा कर ठगी का पता चला. इंजिनियर ने इसकी रिपोर्ट कोतवाली थाने में दर्ज कराई.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक ओडिशा निवासी इंजीनियर शेखर घोष अंबिकापुर में निजी ठेका कंपनी में काम करता हैं. शेखर चश्मा एवं ग्लास बनाने वाली कंपनी की एजेंसी लेने के लिए गूगल में सर्च किया था. 24 अप्रैल को उनके मोबाइल पर फोन आया. फोन करने वाले ने खुद को आई वियर कंपनी लेंसकार्ट का अधिकारी बताया और इंजीनियर को विश्वास में लेकर उनसे ऑनलाइन फार्म भरने सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के लिए कहा. इंजीनियर से ऑनलाइन फार्म भरवाने के साथ अन्य डिटेल भी मंगाए गए. इसके बाद कंपनी के नियम बताकर उससे अलग-अलग बैंक खातों में कुल 13 लाख 81 हजार रुपये किश्तों में जमा करा लिए गए.

online fraud
online fraud

ऐसे हुआ ठगी का शक
पैसा जमा कराने के बाद प्रोसेसिंस बताकर फ्रेंचाइजी देने में आनकानी की जाने लगी तो इंजीनियर शेखर घोष को शक हुआ. उसने कंपनी के वेबसाइट में दर्ज नंबर के माध्यम से लेंसकार्ट के अधिकारियों से बात की तो पता चला कि कंपनी द्वारा ऐसी फ्रेंचाइजी नहीं दी जा रही है और ना ही कंपनी ने किसी से भी पैसा जमा कराया है. ठगी का अहसास होने पर इंजीनियर शेखर घोष ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मामले में धारा 420 आईपीसी एवं 66 सी व 66 डी आईएनएफ के तहत अपराध दर्ज कर लिया है.

नामी कंपनियों की फर्जी वेबसाईट से हो रही ठगी
ऑनलाइन ठगी करने वालों ने नामी कंपनियों के नामों से मिलते जुलते नामों वाली वेबसाइट भी बना ली है. इसके माध्यम से वे ठगी को अंजाम दे रहे हैं. इसमें कम पढ़े लिखे लोगों के साथ खासे एजुकेटेड लोग भी ठगी के शिकार हो रहे हैं. सरगुजा अंचल में लगातार ऑनलाइन ठगी के मामले बढे हैं, जो पुलिस के लिए भी चिंता का कारण बने हुए हैं.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?West Bengal : मुकुल का इस्तीफा- ममता का निर्देश या सीबीआइ का डर?Karnataka Text Book Row : स्कूली पाठ्य पुस्तकों में होंगे आठ बदलावराष्ट्रपति उम्मीदवार Draupadi Murmu पर अभद्र टिप्पणी करने पर डायरेक्टर राम गोपाल वर्मा पर लखनऊ में केस दर्ज, पुलिस ने शुरू की जांचPM Modi in Germany for G7 Summit LIVE Updates: 'गरीब देश पर्यावरण को अधिक नुकसान पहुंचाते हैं, ये गलत धारणा है' : G-7 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदीयूक्रेन में भीड़भाड़ वाले शॉपिंग सेंटर पर रूस ने दागी मिसाइल, 2 की मौत, 20 घायलMaharashtra News: सांगली में परिवार के 9 सदस्यों की मौत आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या थी, पुलिस ने किया चौका देने वाला खुलासाकेन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की Yogi से मुलाक़ात, राष्ट्रपति चुनाव और प्रदेश अध्यक्ष की तैयारी में जुटी भाजपा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.