2 घरों में मारा छापा तो वहां का नजारा देखकर पुलिस भी रह गई हैरान, 2 युवक गिरफ्तार

Police raid: घर में स्टॉक कर बिक्री के लिए रखी गई थी 390 पाव अंग्रेजी शराब, मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस (Police) ने की कार्रवाई

By: rampravesh vishwakarma

Published: 21 Oct 2020, 10:55 PM IST

उदयपुर. आईजी रतनलाल डांगी (Surguja IG Ratanlal Dangi) के निर्देश पर जिले भर में पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में उदयपुर पुलिस ने फिर 390 पाव गोवा अंग्रेजी शराब के साथ 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। सोमवार की रात को ही उदयपुर पुलिस (Udaypur Police) ने 96 पाव शराब के साथ 3 आरोपियों को पकड़ा था।

Read More: आईजी की सख्ती के बाद नशे के कारोबारियों के खिलाफ पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई, 96 पाव गोवा शराब के साथ 3 गिरफ्तार


सरगुजा रेंज में आईजी के निर्देश पर नशे के अवैध कारोबार के खिलाफ पुलिस का विशेष अभियान चल रहा है। एसपी टीआर कोशिमा व एएसपी ओपी चंदेल के निर्देश पर जिले में शराब, गांजा (Hemp) व अन्य मादक पदार्थों के विक्रेताओं पर ताबड़तोड़ कार्रवाई हो रही है।

इसी कड़ी में एसडीओपी चंचल तिवारी के नेतृत्व में उदयपुर पुलिस ने फिर अवैध अंग्रेजी शराब (Illegal wine) के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

दरअसल 20 अक्टूबर को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम डांडग़ांव निवासी अनिल कुमार जायसवाल पिता रामाशंकर व राकेश कुमार पिता करिया नाथ द्वारा घर में स्टॉक कर अंग्रेजी शराब बेची जा रही है। इस पर पुलिस ने डांडग़ांव में दोनों के घर दबिश दी।

छापामार कार्रवाई में अनिल कुमार जायसवाल के घर से 350 पाव व राकेश कुमार के घर से 40 पाव गोवा अंग्रेजी शराब जब्त कर दोनों को गिरफ्तार किया गया। जब्त शराब की कीमत 46 हजार 800 रुपए बताई जा रही है।

Read More: 4 पुलिस ऑफिसरों पर गिरी गाज तो आबकारी विभाग ने पकड़ी 52 लीटर शराब, सरकारी शराब दुकान के 2 सेल्समैन व गार्ड बर्खास्त


कार्रवाई में ये रहे शामिल
कार्रवाई में थाना प्रभारी अलरिक लकड़ा, अजीत मिश्रा, राजेंद्र प्रताप सिंह, लाखन सिंह, संजीव पांडेय, देवनारायण सिंह, सचिन बड़ा, सिकंदर, कुंजलाल व किरण तांडे शामिल रहे।


आईजी ने नहीं की होती सख्ती तो चलता रहता कारोबार
आईजी के कड़े तेवर के बाद सरगुजा पुलिस (Surguja police) नशे के कारोबारियों पर नकेल कस रही है। यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया होता तो पूर्व की भांति ही धड़ल्ले से ये अवैध कारोबार (Illegal business) चलता रहता। कार्रवाई करने के पीछे एक कारण यह भी है कि जिस थाना क्षेत्र में ये अवैध धंधा फलता-फूलता नजर आया तो वहां की पुलिस पर कार्रवाई की जाएगी।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned