कोविड अस्पताल से भाग निकला छेड़छाड़ का आरोपी कोरोना पॉजिटिव बंदी, जेल प्रहरी निलंबित

Prisoner escaped; छेड़छाड़ (Molesting) के आरोप में 9 नवंबर को गिरफ्तार कर आरोपी को पुलिस ने न्यायालय (Court) में किया था पेश, जांच में निकला था कोरोना पॉजिटिव (Corona positive)

By: rampravesh vishwakarma

Published: 17 Nov 2020, 04:43 PM IST

अंबिकापुर. अंबिकापुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कोविड सेंटर से कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) बंदी फरार हो गया। इसकी जानकारी 13 नवंबर की शाम को जब कोविड सेंटर में चिकित्सक राउंड लेने पहुंचे तब हुई।

सूचना पर जेल प्रशासन के अधिकारियों ने ने भी पीपीई किट (PPE kit) पहन कर कोविड सेंटर में जाकर बंदी की तलाशी ली पर कहीं पता नहीं चला। फरार बंदी (Prisoner escaped) के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है।


छेड़छाड़ (Molesting) और मारपीट के मामले में नामजद आरोपित भगवानपुर अंबिकापुर निवासी अनूप सन्ना पिता कमल सन्ना 24 वर्ष को बीते 9 नंवबर को गिरफ्तार कर अदालत (Court) में पेश किया गया था।

Read More: आजीवन कारावास की सजा काट रहे बलात्कार के बंदी की सडक़ हादसे में मौत, 2 महीने के पैरोल पर आया था घर

अदालत से जेल वारंट जारी होने पर स्वास्थ्य जांच में कोरोना की पुष्टि हुई थी। जेल अधीक्षक राजेन्द्र गायकवाड़ ने बताया कि बंदी के कोरोना संक्रमित होने के कारण पहले दिन से ही उपचारार्थ हेतु कोरोना वार्ड मे भर्ती किया गया था।

बीते 13 नंवबर की शाम लगभग 5 बजे ड्यूटीरत चिकित्सक के भ्रमण के दौरान बंदी अनूप सन्ना अपने बेड से गायब था। चिकित्सक (Doctor) द्वारा जेल प्रहरी को दूरभाष पर सूचना दी गई थी। पुलिस कर्मियों व जेल प्रहरी द्वारा बंदी की खोजबीन की गई, लेकिन उसका पता नहीं चल सका।

वह कोविड उपचार केंद्र से फरार होने के बाद अपने घर भी नहीं गया है। खोजबीन के बावजूद कोरोना संक्रमित (Corona positive) बंदी का कुछ पता नही चलने पर पुलिस से शिकायत की गई है। आरोपित के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। उसकी खोजबीन जारी है।

Read More: कोरोना सरगुजा अपडेट: 8 घंटे के भीतर 2 कोरोना पॉजिटिवों की मौत, सेंट्रल जेल में 68 संक्रमितों के मिलने से मचा हडक़ंप


जेल प्रहरी निलंबित
बंदी के फरार हाने की जानकारी पर जेल प्रशासन (Jail administration) के अधिकारियों ने भी पीपीई किट पहन कर कोविड सेंटर (Covid center) में जाकर बंदी की तलाशी ली पर कहीं पता नहीं चला। वहीं इस मामले में जेल अधीक्षक राजेंन्द्र गायकवाड़ ने कार्य में लापरवाही पाए जाने पर जेल प्रहरी अनिल गुप्ता को निलंबित कर दिया है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned