scriptPrivate school: private schools have increased fees 50 to 70 percent | अधिनियम बनने से पहले ही निजी स्कूलों ने 50 से 70 फीसदी बढ़ा दी है फीस, अब सिर्फ खानापूर्ति न बनकर रह जाए आयोग | Patrika News

अधिनियम बनने से पहले ही निजी स्कूलों ने 50 से 70 फीसदी बढ़ा दी है फीस, अब सिर्फ खानापूर्ति न बनकर रह जाए आयोग

Private school: शहर के निजी स्कूलों ने बेतहाशा बढ़ा दी है फीस, इधर फीस विनियामक आयोग ने लोगों से मांगे हैं सुझाव

अंबिकापुर

Updated: May 14, 2020 03:32:34 pm

अंबिकापुर. सरकार द्वारा निजी स्कूलों की मनमानी को रोकने के लिए फीस विनियामक आयोग का गठन तो किया गया है, लेकिन निजी स्कूलों द्वारा इस आयोग के बनने से पहले ही मनमाने तरीके से फीस में बढ़ोतरी कर दी गई है।
अधिनियम बनने से पहले ही निजी स्कूलों ने 50 से 70 फीसदी बढ़ा दी है फीस, अब सिर्फ खानापूर्ति न बनकर रह जाए आयोग
Children
अब समिति के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है कि वह न्यूनतम फीस का निर्धारण किस आधार पर करेगी। फिलहाल फीस विनियामक आयोग द्वारा लोगों से इस संबंध में सुझाव मांगा जा रहा है।

अभी तक निजी स्कूलों की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए छत्तीसगढ़ में किसी प्रकार का कोई कानून नहीं बन सका है। हाल ही में सरकार द्वारा लोगों के दबाव में आकर फीस विनियामक आयोग का गठन कर एक अधिनियम बनाने के लिए अब अभिभावकों से सुझाव लिया जा रहा है, लेकिन इसमें अभी भी निजी स्कूलों की मनमानी पर अंकुश लगाने की बड़ी चुनौती है।
अभिभावक संघ द्वारा इस संबंध में पूर्व में भी कई बार प्रशासन को लिखित में अपनी आपत्ति दर्ज कराई गई है। इसके बावजूद निजी स्कूलों की मनमानी पर लगाम नहीं लग पाई है।

कोरोना संक्रमण के दौरान घोषित लॉक डाउन का फायदा उठाते हुए शिक्षा विभाग को किसी प्रकार का कोई प्रस्ताव न देकर कई बड़े नामी स्कूलों ने अपने फीस में 50 से 70 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी कर दी है। लेकिन इसे वापस लेने के लिए अभी तक कोई पहल प्रशासन अथवा शिक्षा विभाग द्वारा नहीं की गई है।
जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा बिना प्रस्ताव के ही फीस में बढ़ोतरी किए जाने को लेकर एक भी नोटिस किसी भी निजी स्कूल को नहीं दिया गया है, इसी का फायदा उठाते हुए निजी स्कूलों द्वारा इस लॉकडाउन के दौरान भी मनमाने तरीके से फीस में बढ़ोतरी करते हुए सरकारी आदेश को ठेंगा दिखा दिया गया है।

फीस बढऩे के बाद खुली नींद
निजी स्कूलों की मनमानी से अभिभावक इतने परेशान हैं कि कई बार इसकी शिकायत भी सक्षम अधिकारी के समक्ष कर चुके हैं। इसकी जानकारी सरकार के जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों को भी थी। इसके बावजूद सरकार की नींद तब खुली जब निजी स्कूलों द्वारा मनमानी तरीके से फीस बढ़ा दी गई तब सरकार ने इसके लिए आनन-फानन में आयोग का गठन किया है।

अभिभावकों की आर्थिक स्थिति हो रही है खराब
शहर के कई नामी स्कूलों द्वारा इस लॉकडाउन में जिस तरीके से फीस की बढ़ोतरी की गई है। उसके भुगतान में अभिभावकों के पसीने छूट जा रहे हैं। कई अभिभावकों को तो उधारी लेने की नौबत आ गई है। इससे उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब हो रही है।

आयोग में स्थानीय स्तर पर कलक्टर होंगे अध्यक्ष
सरकार द्वारा जो आयोग का गठन किया गया है, उसमें स्थानीय स्तर पर कलक्टर प्रशासन की तरफ से शामिल होंगे और उस आयोग के अध्यक्ष होंगे। इसके आधार पर इसमें स्कूल में पढऩे वाले बच्चों के 10 प्रतिशत अभिभावकों को भी शामिल किया जाएगा, साथ ही अभिभावक संघ के एक सदस्य को भी शामिल किया जाएगा।

अधिनियम बनने के 1 माह बाद देना होगा प्रस्ताव
अधिनियम बनने के बाद निजी स्कूलों को फीस बढ़ोतरी का निर्णय लेना होगा। फीस बढ़ाने के लिए स्थानीय आयोग के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। इसके बाद ही जिला आयोग जिसके अध्यक्ष कलक्टर व उनके द्वारा अनुमोदित सदस्य होंगे उनके द्वारा निर्णय लिया जाएगा।

10 प्रतिशत ही बढ़ा सकते हैं फीस
अभिभावक डब्ल्यूडब्ल्यू डॉट ईडीयूपोर्टल डॉट सीजी डॉट एनआईसी डॉट इन में अपने सुझाव दे सकते हैं। निजी स्कूलों द्वारा इसके बाद ही फीस में बढ़ोतरी की जा सकती है। वर्तमान में महज १० प्रतिशत ही फीस बढ़ाई जा सकती है।
आईपी गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातDelhi Suicide Case: 'कमरे में घुसने के बाद लाइटर न जलाएं' दीवार पर लिखकर मां-बेटियों ने दी जान, एक साल पहले कोरोना से हुई थी CA पति की मौतभाजपा नेता को किया गिरफ्तार, आशियाना ध्वस्त करने पहुंचा था बुलडोजरसाप्ताहिक समीक्षा: सोने-चांदी में तेजी, 2290 रुपए सस्ती हुई चांदी, जानें गाेल्ड की कीमतWeather Update: कई राज्यों में आंधी के साथ बूंदाबांदी, अगले 5 दिनों तक बारिश का अलर्ट'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.