केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने भूपेश सरकार को दी ये चेतावनी, महिला की मौत का जिक्र करते बिफरीं

Renuka Singh: केंद्रीय राज्य मंत्री व सरगुजा सांसद रेणुका सिंह ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कुप्रबंधन पर उठाए सवाल, कहा- निरंकुश है प्रदेश सरकार, बेलगाम हैं अधिकारी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 04 Aug 2020, 06:08 PM IST

अंबिकापुर. केंद्रीय जनजाति कार्य राज्य मंत्री व सरगुजा सांसद रेणुका सिंह (Renuka Singh) एक विज्ञप्ति जारी कर प्रदेश की भूपेश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने राज्य सरकार को निरंकुश व अधिकारियों को बेलगाम बताते हुए उनकी कार्यप्रणालियों की कड़े शब्दों में निंदा की है।

उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि व्यवस्थाओं और सुविधाओं का सुगम-सरल बनाने उचित कदम नहीं उठाए गए तो वे सडक़ पर उतरकर आंदोलन करने को विवश होंगीं।


केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह (Union Minister of State) ने कहा कि तुगलकी फरमानों से राज्य सरकार ने अपने कुप्रबंधन को बार-बार जगज़ाहिर किया है। विभिन्न क्वारंटाइन सेंटर्स व कोविड अस्पतालों की दुर्गति व अव्यवस्था की खबरें आए दिन मिल रही हैं।

कहीं साफ-सफाई का अभाव तो कहीं दो वक्त के भोजन की समस्या, कहीं लक्षण ग्रस्त लोग घरों में रहकर कई-कई दिन अस्पताल में भर्ती होने एम्बुलेंस का रास्ता देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दर में लगातार वृद्धि जारी है लेकिन उसी अनुपात में शासन-प्रशासन का असंवेदनशील चेहरा भी स्पष्ट नजऱ आने लगा है।

पिछले कुछ महीनों से सैकड़ों की संख्या में राज्य भर में गो-वंश की हानि की दु:खद घटनाएं भी लगातार हो रही हैं। उन्होंने कहा कि हद तो तब हो गई जब 2 दिन पहले महज एक कागज के लिए बीमार महिला को अस्पताल तक नहीं जाने दिया और उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया।


सामाजिक संक्रमण की दहलीज पर खड़ा है प्रदेश
रेणुका सिंह (Renuka Singh) ने कहा कि भूपेश बघेल की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार हर मोर्चों पर पूरी तरह से विफल साबित हो रही है.। कोरोना रोकथाम पर बड़े-बड़े दावा करने वाले प्रदेश के मुखिया आज अव्यवस्था पर चुप्पी साधे हुए हैं। राज्य सरकार के कुप्रबंधन ने प्रदेश को सामाजिक संक्रमण की दहलीज पर लाकर खड़ा कर दिया है।


उग्र आंदोलन की दी चेतावनी
केंद्रीय राज्य मंत्री (Renuka Singh) ने कहा कि ऐसी निरंकुश शासन और उसके बेलगाम अधिकारियों की लापरवाही की कड़े शब्दों में निंदा करती हूं और चेतावनी भी देती हूं कि अगर व्यवस्थाएं और सुविधाओं को सुगम-सरल बनाने हेतु समुचित कदम नहीं उठाए गए तो हमें सडक़ में उतरकर उग्र आंदोलन करने को विवश होना पड़ेगा।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned