ढाई वर्ष पहले 6 गांवों में पहुंची थी सौभाग्य योजना लेकिन आज भी यहां के लोग अभागे

Saubhagya Scheme: ग्रामीणों का कहना कि हम अधिकारियों (Officers) के चक्कर लगा-लगाकर थक चुके हैं लेकिन 2 साल से हमारी नहीं हो रही सुनवाई, बीहड़ जंगल क्षेत्र (Forest area) में गांव होने से हाथियों (Elephants) का हमेशा बना रहता है डर, रात और लगती है भयावह

By: rampravesh vishwakarma

Published: 13 Oct 2021, 12:22 AM IST

उदयपुर. आधुनिक युग में भी सरगुजा जिले के कुछ आदिवासी गांव प्रशासन की लापरवाही के कारण प्रकाश के मौलिक अधिकार विद्युत सुविधा से वंचित हैं।

उदयपुर विकास खण्ड के ग्राम भकुरमा, जूझडांड़, बेलडांड़, दर्रीडांड़, कानाडांड़ व भेलवाडांड़ में ढाई वर्ष पूर्व केन्द्रीय मद की सौभाग्य योजना से ठेकेदार द्वारा खंभे गाड़ दिए गए हैं लेकिन इतने दिनों बाद भी बजट होने के उपरांत उन खंभों में कन्डक्टर व ट्रांसफार्मर की व्यवस्था नहीं की गई है।

सोमवार को गांव में पहुंचे भाजपा जिला उपाध्यक्ष विनोद हर्ष से ग्रामीणों ने अपनी इस मूलभूत समस्या से अवगत कराया व बताया कि हम सभी लगातार दो वर्षों से कार्यालय व अधिकारियों का चक्कर लगाते लगाते थक गए हैं लेकिन हमारा यह महत्वपूर्ण काम नहीं हो पा रहा है।


ग्रामीणों ने बताया कि इस सुदुर बीहड़ जंगल क्षेत्र में लगातार हाथियों का खौफ बना रहता है। बिजली न होने के कारण रात और भी भयावह लगती है। ऊपर से जंगली जानवरों के भय के बीच जीने के लिए हम विवश हैं।

बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होती है ! भाजपा जिला उपाध्यक्ष विनोद हर्ष ने ग्रामीणों की बात सुनकर उनसे हस्ताक्षरित आवेदन लेकर तत्काल इस मामले को कलक्टर व अन्य संबंधित अधिकारियों से भेंट कर अवगत कराने की बात कही।

Read More: Video: बिजली कटौती और लो-वोल्टेज से लोग परेशान, विद्युत कार्यालय में किया प्रदर्शन, आंदोलन की दी चेतावनी

उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग अभी भी ढिबरी युग में जीने के लिए मजबूर हैं जबकि केन्द्र की मोदी सरकार ने शत् प्रतिशत गांवों में विद्युतीकरण के लिए देश भर के सभी राज्यों में सौभाग्य योजना के तहत राशि उपलब्ध करा शीघ्र विद्युतीकरण कराने के निर्देश दिए हैं।

समझ में नहीं आता कि छत्तीसगढ़ की प्रदेश सरकार किस आधार पर राज्य को शत प्रतिशत विद्युतीकृत बता रही हैं। इस अवसर पर बुद्धि राम, अजय भगत, उदई यादव, राजामोहन, फुदुल राम, अमृत राम, सागर, राजू, जगेश्वर यादव, फूलमती, बृजमोहन, संदीप, फिरूराम, शिवपाल, नन्देश्वर, मुन्ना राम सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Read More: रिजनल जेडी ऑफिस का बिजली कनेक्शन काटा, इतने लाख रुपए का बकाया था बिल, 4 दिन से कामकाज ठप


जनजातीय बाहुल्य ग्रामों की उपेक्षा
भाजपा नेता विनोद हर्ष ने कहा कि शासन प्रशासन द्वारा जनजातीय बाहुल्य ग्रामों की घोर उपेक्षा समझ से परे है। उन्होंने कहा कि यदि समयावधि में कार्य पूर्ण नहीं होगा तो जनता आन्दोलन के लिए बाध्य होगी।

भाजपा नेता ने उपस्थित लोगों से प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत मिल रहे नि:शुल्क चावल, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि सहित अन्य केन्द्र सरकार चलित योजनाओं की जानकारी ली।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned