सरकार की ओर से अब तक कोई आदेश नहीं, इधर कोरोना नियमों को ठेंगा दिखाकर स्कूल में लग रहीं कक्षाएं

School open: कई स्कूलों की क्लास रूम (Class room) की तस्वीरें आईं सामने, इधर डीईओ बोल रहे-परिसर में चल रहीं कक्षाएं, सरगुजा जिले में अपना ही आदेश (Order) चला रहे अधिकारी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 09 Jan 2021, 12:01 AM IST

अंबिकापुर. कोरोना काल में मार्च 2020 से स्कूल बंद (School closed) हैं। बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने मोहल्ला क्लास लगाकर बच्चों को पढ़ाने के निर्देश शिक्षकों को दिए थे। इसके बावजूद जिले के अधिकांश शिक्षक मोहल्ला क्लास (Mohalla class) लगाकर बच्चों को पढ़ाने में रूची नहीं दिखा रहे हैं। इससे बच्चों की पढ़ाई ज्यादा प्रभावित हुई है।

वहीं 10-12 वीं की बोर्ड परीक्षा भी अब सिर पर है। इसे लेकर पालक व बच्चों को चिंता सता रही है। बच्चों के भविष्य को देखते हुए कुछ दिन पूर्व कलक्टर संजीव कुमार झा ने जिले के सभी स्कूल के प्राचार्यों को बैठक ली थी और बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराने के निर्देश दिए थे।

कलक्टर ने प्राचार्यों को मोहल्ला क्लास व ऑनलाइन क्लास (Online class) विधिवत रूप से चलाकर बच्चों को बोर्ड परीक्षा की तैयारी पूर्ण कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन कलक्टर के निर्देश को शिक्षकों ने ठेंगा दिखाते हुए मोहल्ला व ऑनलाइन क्लास चलाने के बजाय स्कूल ही खोल दिया।

जबकि स्कूल खोलने का निर्देश न तो राज्य सरकार और न ही जिला प्रशासन द्वारा जारी किया गया है। जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल खोलकर क्लास व परिसर में बैठाकर बच्चों को पढ़ाई कराई जा रही है। इस दौरान कोरोना नियमों का तनिक भी पालन नहीं किया जा रहा है।


गौरतलब है कि जिले के ग्रामीण क्षेत्र के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में भी बिना आदेश के ही कोरोना काल में स्कूल खोल दिए गए हैं। स्कूल खोलने का आदेश न तो राज्य सरकार और न ही जिला प्रशासन द्वारा जारी किया गया है। कलक्टर संजीव कुमार झा ने प्राचार्यों की बैठक में केवल मोहल्ला क्लास व ऑनलाइन क्लास के जरिए 10-12 के छात्रों की बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराने के निर्देश दिए गए थे।

इस आदेश के बाद शिक्षक अपनी मनमानी पर उतर आए और बिना आदेश के स्कूल को ही खोल दिए। स्कूल में हर रोज दो शिफ्ट में छात्र-छात्राओं को बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराई जा रही है। जबकि कलक्टर ने निर्देश दिया था कि बच्चों को नियमित रूप से ऑनलाइन होमवर्क दें एवं अध्यापन से पहले प्रतिदिन उस होमवर्क के सम्बंध में बच्चों से ऑनलाइन चर्चा करें।

सरकार की ओर से अब तक कोई आदेश नहीं, इधर कोरोना नियमों को ठेंगा दिखाकर स्कूल में लग रहीं कक्षाएं

जिस भी विद्यार्थी को शंका हो तो उसका तत्काल समाधान शिक्षक द्वारा किया जाए। उन्होंने प्राचार्यों को निर्देशित किया कि प्रतिदिन अपने शिक्षको से वीडियों कांफे्रंस के माध्यम से अध्यापन के सम्बंध में चर्चा करें एवं एक टीम बनाकर अध्यापन कार्य कराएं।


कलक्टर ने ऑनलाइन व मोहल्ला क्लास के दिए थे निर्देश
बोर्ड परीक्षा की तैयारियों को लेकर कुछ दिनों पूर्व बैठक में कलक्टर संजीव कुमार झा ने सभी स्कूल के प्राचार्यों को शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन क्लास व मोहल्ला क्लास संचालित के निर्देश दिए गए थे। ऐसा नहीं करने पर शिक्षकों के वेतन काटने के निर्देश दिया गया था।

कड़े आदेश के बाद भी शिक्षकों ने अपना मनमाना रवैया नहीं छोड़ा और स्कूल खोलकर क्लास लेना शुरू कर दिया। ताकि शिक्षकों को मोहल्ला-मोहल्ला जाकर क्लास लेने व ऑनलाइन क्लास के झंझट से मुक्ति मिल सके।


अधिकांश बच्चों के चेहरे पर मास्क नहीं
क्लास रूम में कोविड नियमों का भी पालन नहीं किया जा रहा है। क्लास में अधिकांश बच्चों के चेहरे पर मास्क नहीं रहता है और न ही स्कूल द्वारा कोई तैयारी की गई है। क्लास रूम में तो सेनिटाइजर भी नहीं रहता है। बिना मास्क के विद्यार्थी क्लास रूम में पढ़ाई कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में कोरोना का खतरा बढ़ सकता है। बच्चे संक्रमित हो सकते हैं।


अनोखा सहमति पत्र भी लिया
एक स्कूल के प्राचार्य ने बताया कि कलक्टर के निर्देश पर बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराने के लिए क्लास में नहीं स्कूल परिसर में पढ़ाई कराई जा रही है। वहीं बच्चों के अभिभावकों से इसके लिए सहमति भी ली गई है। अगर बच्चे कोरोना से संक्रमित होते हैं तो इसकी जिम्मेदारी स्कूल प्रशासन की नहीं होगी। यानी स्कूल प्रबंधन ने अपने बचाव के लिए अभिभावकों से सहमति पत्र भी ले लिए हैं।


क्लास रूम में नहीं पढ़ाया जा रहा
क्लास रूम में नहीं बल्कि स्कूल के खुले परिसर में बोर्ड परीक्षा की तैयारी कराई जा रही है। वैसे बच्चे शामिल जो रहे हैं, जिनके पास नेट व ऑनलाइन की समस्या है। स्कूल द्वारा कोई बाध्यता भी नहीं है। अभिभावक स्वयं अपनी इच्छा पर बच्चों को भेज सकते हैं।
आईपी गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned