scriptThe family took the snakebite victim on the cot, died due to delay in | सर्पदंश पीडि़ता को खाट पर ढोकर ले गए परिजन, इलाज में देरी से मौत | Patrika News

सर्पदंश पीडि़ता को खाट पर ढोकर ले गए परिजन, इलाज में देरी से मौत

राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम जावाखोर में रिश्तेदार के घर गई पंडो जनजाति की किशोरी को जमीन में सोने के दौरान सांप ने डस लिया। इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

अंबिकापुर

Published: May 19, 2022 08:05:51 pm

अंबिकापुर. राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम जावाखोर में रिश्तेदार के घर गई पंडो जनजाति की किशोरी को जमीन में सोने के दौरान सांप ने डस लिया। इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उसकी मौत हो गई। इधर परिजन का कहना है कि गांव तक सड़क नहीं होने के कारण पीडि़त किशोरी को अस्पताल पहुंचाने में लगभग एक घंटे का विलंब हो गया। परिजन को किशोरी को लगभग दो किमी पैदल खाट ढोकर मेन सड़क तक पहुंचना पड़ा। इसके बाद उसे इलाज के लिए एंबुलेंस से राजपुर अस्पताल ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसकी गंभीर स्थिति देखते हुए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया। यहां चिकित्सकों ने उसे जांच के दौरान मृत घोषित कर दिया।
snakebite
snakebite

जानकारी के अनुसार फुलकुंवर पिता भोला पहाड़ी कोरवा उम्र १६ वर्ष लुण्ड्रा थाना क्षेत्र के ग्राम गढ़पहाड़ का रहने वाली थी। वह पिछले १ महीने से अपने जीजा के घर राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम जावाखोर में रह रही थी। बुधवार की रात वह कमरे में जमीन में बिस्तर लगाकर सोई थी।
गुरुवार की अल सुबह करीब ३.३० बजे उसे सांप ने डस लिया। किशोरी ने घटना की जानकारी परिजन को दी। गांव तक सड़क नहीं होने के कारण परिजन को उसे तत्काल इलाज हेतु अस्पताल ले जाने के लिए बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ा। परिजन किशोरी को खाट में ढोकर दो किमी पैदल चल कर मेन रोड तक पहुंचे और इसके बाद एंबुलेंस से उसे इलाज के लिए राजपुर अस्पताल ले गए। तब तक एक घंटे से ज्यादा समय बीत चुका था। यहां चिकित्सकों ने किशोरी की गंभीर स्थिति देखते हुए उसे अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिजन ने सांप को बनाया बंधक
सांप किशोरी को डंसने के बाद कमरे में ही एक बिल में घुस गया था। इधर किशोरी को कुछ काटे जाने का एहसास होने पर उसने परिजन को बताया। परिजन ने कमरे में चारों तरफ देखा तो कहीं कुछ दिखाई नहीं दिया। एक कोने में बिल होने पर उसे खोदा तो उसमें सांप था। परिजन ने सांप को टोकरी के नीचे ढक कर रखा था।

समय पर अस्पताल पहुंचते तो बच सकती थी जान
किशोरी की मौत की घटना से परिजन सदमे में है। परिजन का कहना है कि गांव पहुंचविहीन होने के कारण किसी भी वाहन का आना जाना नहीं हो पाता है। अगर गांव तक रास्ता होता तो अस्पताल पहुंचने में बिलंब नहीं होता। समय पर अस्पताल पहुंच जाने से किशोरी की जान बच सकती थी। गांव तक सड़क नहीं होने से किसी के बीमार होने पर इसी तरह की आपात स्थिति का सामना परिजनों को करना पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बीईओ का रिटायर्ड शिक्षक से रिश्वत मांगने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल, 60 हजार की थी डिमांडMumbai Rain: IMD की बड़ी भविष्यवाणी, मुंबई में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होने की संभावनाIND vs ENG: Virat Kohli की खराब फॉर्म इंग्लैंड में भी जारी, 4 मैच खेलने वाले गेंदबाज ने किया आउट, देंखे विडियोMumbai News Live Updates: मुंबई में पिछले 24 घंटे में 978 कोरोना के नए मामले सामने आए, दो मरीजों की मौतनूपुर शर्मा केस: कांग्रेस बोली- BJP सरकार को मांगनी चाहिएMaharashtra Politics: बीजेपी नेता राहुल नार्वेकर ने विधानसभा स्पीकर के लिए दाखिल किया नामांकन, 3 जुलाई को होगा चुनावRajasthan Monsoon Update: सात जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, यहां झूम के बरसे बादलIndian Railway: अब सभी ट्रेनों में जनरल कोच शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.