जमानत पर छूटे चोर ने ज्वेलरी शॉप से की थी 31 लाख की चोरी, जमीन में गाड़ रखे थे जेवर

Theft case Open: सरगुजा पुलिस (Surguja police) को मिली सफलता, शहर के सत्यम ज्वेलर्स (Satyam Jwellery) में सेंधमारी कर शातिर चोर ने अकेले ही दिया था वारदात (Crime) को अंजाम

By: rampravesh vishwakarma

Published: 19 Sep 2021, 04:45 PM IST

अंबिकापुर. कोतवाली से 100 मीटर दूर सत्यम ज्वेलर्स में 30 लाख के सोने-चांदी के जेवर समेत 31 लाख रुपए की चोरी करने वाले शातिर चोर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की तस्वीर दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। हालांकि उसने मास्क, रैनकोट व हैंड ग्लब्स पहन रखा था।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने अपनी जांच शुरु की तथा जमानत पर छूटे अपराधियों के संबंध में पता तलाश किया। इसी बीच शहर के मठपारा निवासी एक चोर के बारे में पता चला। वह जमानत पर छूटा था।

पुलिस ने जब उसे हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया। आरोपी ने चोरी किए गए सोने-चांदी के जेवर घर में पेटी के नीचे जमीन में गाड़कर रखा था, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। पुलिस ने आरोपी को रविवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।


पुलिस को-ऑर्डिनेशन सेंटर में चोरी का खुलासा करते हुए एसपी अमित तुकाराम कांबले ने बताया कि शहर के सत्यम ज्वेलर्स के संचालक अशोक सोनी ने 16 सितंबर को दुकान में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसने बताया था कि 30 लाख रुपए के जेवर व 1 लाख रुपए नकद चोरी हुई है।

सूचना मिलते ही पुलिस की टीम ने जांच शुरु की और 24 घंटे के भीतर आरोपी को हिरासत में ले लिया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने पुराने अपराधियों व जमानत पर छूटे अपराधियों का रिकॉर्ड खंगालना शुरु किया। इसी बीच पता चला कि एक युवक 16 सितंबर की सुबह 2 बैग लेकर ऑटो में बैठकर बिलासपुर चौक की ओर गया है।

Jwellery theft case
IMAGE CREDIT: Theft case

उक्त क्षेत्र में पता किया गया तो शहर के मठपारा निवासी रवि रजक पिता गिरधारी लाल 27 वर्ष के बारे में जानकारी मिली कि वह कुछ दिन पहले ही जमानत पर छूटकर लौटा है। पुलिस ने जब उसे हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सत्यम ज्वेलर्स में चोरी की बात स्वीकार कर ली।

Read More: ज्वेलरी दुकान से 50 लाख की चोरी की गुत्थी सुलझाने बनीं 7 टीमें, व्यापारी बोले- रात में नशे में रहते हैं पुलिसकर्मी


जमीन में गाड़ रखे थे जेवर
आरोपी ने अपने घर की बड़ी पेटी के नीचे जमीन में कांस्य के बर्तन में चोरी के सोने-चांदी के जेवर गाड़ रखे थे। पुलिस को उसने जमीन से खोदकर जेवर दिए। पुलिस ने आरोपी के पास से 30 लाख रुपए के जेवर बरामद किए।

उसने बताया किचोरी के 17 हजार रुपए उसने बैंक में जमा किए हैं। पुलिस ने आरोपी को धारा 457 व 380 के तहत रविवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

Theft in Ambikapur
IMAGE CREDIT: Theft in Jwellery shop

यूट्यूब चैनल देखकर बनाता था प्लान, जुए की है लत
पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह यूट्यूब चैनल देखकर चोरी का प्लान बनाता था। उसे जुए की लत भी है, उसे पूरा करने वह चोरी करता था। उसने सत्यम ज्वेलर्स में पूर्व में भी 2 बार चोरी का प्रयास किया था। पहली बार वह दीवार में सिर्फ गड्ढा कर पाया था जबकि दूसरी बार भी वह असफल रहा।

इसके बाद उसने बिलासपुर से ड्रिल मशीन खरीदकर लाया और 15 सितंबर की रात स्कूल के कंपाउंड से घुसकर सत्यम ज्वेलर्स की दीवार में सेंध लगा दी। इसके बाद वहां से जेवर व रुपए लेकर फरार हो गया।

Read More: लॉकडाउन के बीच वकील के सूने मकान में चोरों का धावा, 83 हजार नकद समेत 2 लाख के जेवर पार


आईजी ने टीम को दिया 25 हजार का इनाम
सरगुजा पुलिस ने 2 दिन के भीतर चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस की इस सफलता पर नवपदस्थ सरगुजा आईजी अजय कुमार यादव ने टीम को 25 हजार रुपए नकद इनाम दिया।

पूरी कार्रवाई आईजी के मार्गदर्शन में एसपी, एएसपी विवेक शुक्ला, सीएसपी एसएस पैंकरा तथा एसडीओपी अखिलेश कौशिक के नेतृत्व में की गई।

Read More: जेवर दुकान में पहुंचे पति-पत्नी को पसंद नहीं आया सोने का लॉकेट, संचालक ने जब सीसीटीवी देखा तो रह गया हैरान


कार्रवाई में ये रहे शामिल
कार्रवाई में कोतवाली टीआई अनूप एक्का, निरीक्षक दिलबाग सिंह, राहुल तिवारी, कमलेश्वर भगत, विजय प्रताप सिंह, अलरिक लकड़ा, एसआई अशोक मिश्रा, ओमप्रकाश यादव, शिशिरकांत, विद्याभूषण, अनिता आयाम, रश्मि सिंह, सुरजन राम पोर्ते, एएसआई भूपेश सिंह, सरफराज फिरदौसी, डाकेश्वर सिंह,

अजीत मिश्रा, प्रधान आरक्षक धीरज गुप्ता, शत्रुधन सिंह, सुधीर सिंह, धर्मेंद्र श्रीवास्तव, अजय पांडेय, आरक्षक विरेंद्र पैंकरा, विकास सिंह, राकेश शर्मा, अभय चौबे, राहुल सिंह, इजहार अहमद, सुयेश पैंकरा, रुपेश महंत, शमीनुल फिरदौसी, आलोक गुप्ता, अतुल सिंह, देवेंद्र पाठक व जानकी प्रसाद राजवाड़े शामिल रहे।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned