बेटी और भतीजी की शादी के लिए रखे 4 लाख के जेवर चोरों ने किए पार, मामा के घर सोने चली गई थी बेटी

Theft in house: किराए के सूने मकान में चोरों ने दिया वारदात को अंजाम, 40 हजार रुपए नकद व 4 लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवर (Gold-silver jwellery) ले उड़े चोर

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 25 Nov 2020, 11:42 PM IST

अंबिकापुर. किराए में रह रही महिला के सूने मकान में बुधवार की तडक़े अज्ञात चोरों ने 40 हजार रुपए नगद व चार लाख के जेवरात पार कर दिए हंै। इस दौरान चोरों ने पड़ोसी का भी घर का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया था, ताकि वे बाहर न निकल सकें। (Theft in house)

तीन बजे बगल के कमरे से आवाज आने पर पड़ोसी ने बाहर निकलने का प्रयास किया पर बाहर से दरवाजा बंद होने के कारण वे नहीं निकल सके। महिला ने इसकी रिपोर्ट मणिपुर चौकी में दर्ज कराई है। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। महिला ने अपनी बेटी व भतीजी की शादी के लिए जेवर बनवाकर रखा था।


सरिता दास पति गणेश्वर दास शहर के मणिपुर क्षेत्र में किराए के मकान में पति व बेटी के साथ रहती है। मंगलवार को सरिता पति के साथ दरिमा धान कटवाने (Cut paddy) गई थी। घर में केवल उसकी बेटी थी। रात में मम्मी-पापा के नहीं लौटने की सूचना पर लडक़ी घर में ताला बंद कर मोहल्ले में रह रहे मामा के घर चली गई।

लडक़ी सुबह घर लौटी तो घर का ताला टूटा हुआ था और पड़ोसी का दरवाजा बाहर से बंद था। लडक़ी ने पड़ोसी को दरवाजा खोलकर घटना की जानकारी दी तो पड़ोसियों ने बताया कि लगभग 3 बजे कमरे से आवाज आ रही थी। लोगों का मानना है कि रात 3 बजे ही चोरों द्वारा घटना को अंजाम दिया गया होगा।


बेटी और भतीजी की शादी के लिए बनवाए थे जेवर
लडक़ी ने घटना की जानकारी अपने मम्मी-पापा को दी। सूचना पर दोनों तत्काल पहुंचे और सामान का मिलान किया। आलमारी में रखे 40 हजार रुपए नकद व लगभग चार लाख रुपए के जेवरात नहीं थे। (Jwellery theft)

महिला ने अपनी बेटी व भतीजी की शादी के लिए जेवरात बनवाकर रखा था। महिला ने इसकी जानकारी मणिपुर चौकी पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच की। मामले में पुलिस अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned