भतीजे ने ही व्यवसायी फूफा के सूने मकान से पार किए थे लाखों रुपए के जेवर और कैश

Thieves arrested: 25 दिन पूर्व व्यापारी (Businessman) के घर में हुई चोरी की गुत्थी सुलझी, आरोपी भतीजा सहित तीन गिरफ्तार (3 thieves arrested)

By: rampravesh vishwakarma

Published: 06 Jan 2021, 08:44 PM IST

अंबिकापुर. एक माह पूर्व शहर से लगे दरिमा रोड में व्यापारी के सूने मकान में हुई चोरी के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी कोई और नहीं व्यापारी का भतीजा ही निकला। आरोपी ने अपने ही फूफा के घर में चोरी की घटना को वारदात (Crime) दिया था।

घटना दिवस व्यापारी अपने पूरे परिवार के साथ घर में ताला बंद कर शादी में शामिल होने गया था। कुछ देर बाद आया तो मकान का मेन गेट बंद था पर अंदर सामान बिखरा पड़ा था। आरोपी पूरे घर के बारे में जान रहा था।

उसने 50 हजार रुपए नगद व लाखों रुपए के सोने-चांदी के आभूषण चोरी कर अपने सहयोगी के साथ मिलकर बेच दिया था। पुलिस ने मुख्य आरोपी, सहयोगी व खरीदार को गिरफ्तार (thieves arrested) कर जेल भेज दिया है।


शहर से लगे दरिमा रोड निवासी हनुमान प्रसाद अग्रवाल अपने घर में ही किराना दुकान चलाता है। ९ दिसंबर की रात वह अपने पूरे परिवार के साथ शादी में शामिल होने अंबिकापुर गया था। कुछ देर बाद जब वापस घर लौटा तो मेन गेट में ताला बंद था पर अंदर सामान बिखरा पड़ा था।

चोरी का संदेह होने पर वह सामान की जांच की तो पता चला कि आलमारी में रखे सोने-चांदी के लाखों रुपए के आभूषण व 50 हजार रुपए नगद गायब है। मामले में पुलिस (Police) ने अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। एसपी टीआर कोशिमा ने कोतवाली व स्पेशल टीम को संयुक्त रूप से कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

पुलिस ने मुखबिर व तकनीक की सहायता से शहर के ब्रह्मरोड निवासी आरोपी 31 वर्षीय आकाश अग्रवाल उर्फ कल्लू पिता रौशन अग्रवाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपने फूफा के घर में चोरी करना कबूल लिया।

इस पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। कार्रवाई में मुख्य रूप से कोतवाली प्रभारी भारद्वाज सिंह, एसआई सरफराज फिरदौसी, प्रधान आरक्षक धीरज गुप्ता, वीणा रानी तिर्की, आरक्षक अभय चौबे, जितेन्द्र मिश्रा, विमल खलखो, संजीव चौबे, सत्येंद्र दुबे शामिल रहे।


लाखों के जेवरात को 70 हजार में बेच दिया
आरोपी आकाश अग्रवाल उर्फ कल्लू ने पुलिस को बताया कि घटना को अंजाम उसने स्वयं दिया था। चोरी करने के कुछ दिन बाद अपने सहयोगी शहर के भ_ापारा निवासी 22 वर्षीय शिवम कुमार माल्या पिता अजय कुमार माल्या से जेवरात बेचने की बात की।

शिवम के सहयोग से चोरी का जेवरात सदर रोड निवासी सर्राफा दुकान (Jwellery shop) संचालक मोनू सोनी को 70 हजार में बेच दिया। इसके बाद दोनों उक्त रुपए को आपस में बांटकर खाने-पीने में खर्च कर दिए। पुलिस ने जेवर खरीदार मोनू सोनी को गिरफ्तार कर गला हुआ सोना 66.560 ग्राम, चांदी गला हुआ 21.400 ग्राम जब्त किया, जिसकी कीमत 4 लाख रुपए है।

वहीं मुख्य आरोपी आकाश उर्फ कालू के कब्जे से दो नग मोबाइल भी जब्त किया गया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी आकाश अग्रवाल उर्फ कल्लू सहयोगी शिवम कुमार माल्या व जेवर खरीदार मोनू सोनी को गिरफ्तार कर धारा ४५७, 380, 411 व 34 के तहत अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया है।


एसी वायर के सहारे चढ़ा छत पर
घटना दिवस हनुमान अग्रवाल अपने परिवार के साथ शादी में गया था। वापस आने पर मेन गेट बंद था। अंदर जाने पर सामान बिखरा पड़ा था। सामान का मिलान करने पर चोरी का पता चला। पर चोर अंदर कैसे घुसा इसकी जानकारी घर वालों व पुलिस को भी नहीं मिल पा रही थी। घर वाले व पुलिस विभिन्न बिन्दुओं पर जांच कर रहे थे।

आरोपी को गिरफ्तार करने पर पता चला कि आरोपी छत पर लगे एसी वायर के सहारे चढ़ा था और अंदर जाकर घटना को अंजामा दिय था। वह घर के हर रास्ते के बारे में जानता था। उसके लिए आसान तब और हो गया, जब उसने आलमारी की चाबी उसी में लगी पाई थी।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned