scriptThis army officer was involved in the Kargil war | कारगिल युद्ध में शामिल थल सेना के इस ऑफिसर ने संभाली सीजी के सैनिक स्कूल की कमान | Patrika News

कारगिल युद्ध में शामिल थल सेना के इस ऑफिसर ने संभाली सीजी के सैनिक स्कूल की कमान

कर्नल जितेन्द्र डोगरा ने प्राचार्य का पद्भार किया ग्रहण, कहा- कैडेटों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व एनडीए में प्रवेश पहली प्राथमिकता

अंबिकापुर

Published: June 13, 2018 05:37:13 pm

अंबिकापुर. कर्नल जितेन्द्र डोगरा ने सैनिक स्कूल अम्बिकापुर के नए प्राचार्य का पदभार 12 जून से संभाल लिया। पूर्व प्राचार्य ग्रुप कैप्टेन तरुण खरे के स्थानान्तरण के बाद सैनिक स्कूल के नये प्राचार्य की प्रतीक्षा की जा रही थी। मूलत: जम्मू के निवासी कर्नल जितेन्द्र डोगरा एक कुशल प्रशासक, उच्च शिक्षित, अनुभवी और तेज-तर्रार अधिकारी हैं।
Colonel Jitendra Dogra
उनकी पूरी शिक्षा जम्मू में ही हुई है और वे एमए एवं बीएड डिग्रीधारक हैं। कर्नल जितेंद्र डोगरा कारगिल के ऑपरेशन विजय, नागालैंड में ऑपरेशन आर्किड तथा ऑपरेशन विजय स्टार जैसे महत्वपूर्ण अभियानों में भाग ले चुके थल सेनाधिकारी हैं। सैनिक स्कूल अम्बिकापुर में प्राचार्य का पद भार संभालने से पूर्व वे वर्ष 2013 से 2016 तक सैनिक स्कूल पुंगलवा (नागालैण्ड) में हेडमास्टर पद पर कार्य कर चुके हैं।

1998 में इंडियन मिलिटरी अकादमी से कमीशन प्राप्त कर्नल जितेन्द्र डोगरा ने विभिन्न कोर्स सफलता से पूर्ण किए हैं। अपने बीस वर्ष लम्बे सेवा काल में इन्होंने इंडियन मिलिटरी अकादमी, देहरादून, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, पुणे तथा ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी, चेन्नई में अनुदेशक पद पर तथा ब्रिगेड अरूणाचल प्रदेश में महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं।
कर्नल डोगरा कारगिल में ऑपरेशन विजय, नागालैण्ड में ऑपरेशन आर्किड तथा ऑपरेशन विजय स्टार जैसे महत्वपूर्ण अभियानों में भाग ले चुके प्रतिष्ठित थल सेनाधिकारी हैं। सैनिक स्कूल अम्बिकापुर में प्राचार्य का पद भार संभालने से पूर्व वे वर्ष 2013 से 2016 तक सैनिक स्कूल पुंगलवा (नागालैण्ड) में हेडमास्टर पद पर कार्य कर चुके हैं।
यहां आने से पहले वे इंडियन मिलिटरी अकादमी देहरादून में पिछले दो वर्षों से सीनियर कर्नल अनुदेशक जैसे उच्च पद पर आसीन रह चुके हैं।


प्रथम थल सेनाधिकारी जो यहां हुए पदस्थ
वे सैनिक स्कूल अम्बिकापुर के प्राचार्य का पदभार संभालने वाले थल सेना के प्रथम अधिकारी हैं। कर्नल डोगरा ने बताया कि कैडेटों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं कैडेटों का राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में प्रवेश उनकी प्रथम वरीयता होगी तथा वे सभी के सहयोग से सैनिक स्कूल अम्बिकापुर की स्वर्णिम सफल और परम्पराओं को नए शिखर तक ले जाने का प्रयास करेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.