किसानों के लिए आवाज उठाना जनपद सदस्य को पड़ा महंगा, ट्रांसपोर्टर पिता-पुत्र ने जमकर की पिटाई, फिर...

गन्ना परिवहनकर्ता व उसके पुत्र ने की मारपीट, गन्ना खरीदी केंद्र में मच गई अफरातफरी, किसानों ने कहा- चार वर्ष से हो रहा हमारा शोषण

By: rampravesh vishwakarma

Published: 30 Dec 2018, 08:18 PM IST

अंबिकापुर. रघुनाथपुर गन्ना खरीदी केंद्र में गन्ना कृषकों के शोषण को लेकर गन्ना परिवहनकर्ता के खिलाफ आवाज उठाना जनपद सदस्य को महंगा पड़ गया। गन्ना परिवहनकर्ता व उसके पुत्र ने जनपद सदस्य का कॉलर पकड़कर पिटाई शुरु कर दी। मारपीट के बाद गन्ना खरीदी केंद्र में हो-हल्ला शुरू हो गया।

सूचना पर पुलिस सहायता केंद्र प्रभारी भी दल-बल के साथ पहुंच गए। मारपीट की सूचना मिलते ही लुण्ड्रा सीईओ, किसान कांग्रेस के जिला अध्यक्ष व पूर्व विधायक सहित कांग्रेसी नेताओं ने पहुंचकर परिवनकर्ता के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।


गन्ना खरीदी केंद्र रघुनाथपुर में रविवार को जनपद सदस्य गंगाराम यादव द्वारा परिवहनकर्ता विजेन्द्र सिंह व उनके पुत्र सूर्यकांत सिंह के खिलाफ विरोध दर्ज कराया जा रहा था। इससे आक्रोशित परिवहनकर्ता विजेन्द्र सिंह व सूर्यकांत सिंह ने जनपद सदस्य का कॉलर पकड़कर मारपीट शुरू कर दी।

परिवहनकर्ता ने विधायक डॉ. प्रीतम राम के समक्ष ३ दिन पूर्व आश्वासन दिया था कि खरीदी केंद्र में खड़े सभी ८३ ट्रैक्टरों में लोड गन्ना दो दिन के अंदर अनलोड कर दिया जाएगा, लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद भी किसानों का गन्ना खाली नहीं हुआ। इस बात को लेकर गन्ना कृषक काफी आक्रोशित थे।

इसकी जानकारी लगने पर जनपद सदस्य गंगाराम ने खरीदी केंद्र पहुंचकर किसानों का गन्ना खाली करने को कहा। परिवहनकर्ता व उसके पुत्र ने कहा कि ३० मजदूर लगाकर काम कर रहे हैं। गंगाराम ने कृषकों के साथ मिलकर आसपास देखा तो वहां महज १९ मजदूर काम कर रहे थे। इसे लेकर दोनों पक्षों में जमकर विवाद हो गया।

विवाद इतना बढ़ गया कि पूरा खरीदी केंद्र अखाड़े में तब्दील हो गया। परिवहनकर्ता व उसके पुत्र ने जनपद सदस्य की पिटाई कर दी। इसकी जानकारी लगते ही पुलिस सहायता केंद्र के प्रभारी तत्काल दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गए। वे परिवहनकर्ता व उसके पुत्र को पकड़कर थाने ले आए, इसके बाद मामला शांत हुआ।


कांग्रेसियों ने जताई नाराजगी
चार वर्षों से हो रहे कृषकों के शोषण के खिलाफ किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ने मां महामाया शक्कर कारखाना प्रबंधन के खिलाफ नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि हमेशा प्रबंधन द्वारा विवादों से घिरे परिवहनकर्ताओं को ही ठेका दे दिया जाता है।

इस दौरान वहां उपस्थित कांग्रेसियों ने कहा कि ट्रैक्टर जल्द ही अनलोड होना चाहिए। उन्होंने खेत से गन्ना खरीदी केंद्र पहुंचते ही वजन कराने तथा परिसर में अनलोड कराने की बात कही। कांग्रेसियों ने व्यवस्था नहीं सुधरने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned