आखिर इस सीजन में हमें क्यों लगती है अधिक ठंड? जानिए इसके पीछे की वजह

जिले सहित संभाग भर में पड़ रही कड़ाके की ठंड, 3 जनवरी को सूर्य से सबसे निकटतम दूरी पर स्थित थी पृथ्वी

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 04 Jan 2018, 05:11 PM IST

अंबिकापुर. कड़ाके की ठंड से शहर और गांव के लिए सिकुड़ते जा रहे हैं। अंबिकापुर सहित पूरे सरगुजा संभाग में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। लोग दिनभर गर्म कपड़ों में नजर आ रहे हैं। इस ठंड के पीछे मुख्य कारण पृथ्वी का अपने अक्ष पर झुकाव और सूर्य से दूरी है। 3 जनवरी खगोलीय घटना में मौसम परिवर्तन के लिए एक विशेष तिथि है।

इस तिथि को पृथ्वी सूर्य से सबसे निकट होती है। यह बातें बुधवार को मुलाकात के दौरान राजीव गांधी शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के भूगोल विभाग के अध्यक्ष डॉ. रमेश जायसवाल ने बतायी।


डा. रमेश जायसवाल ने बताया कि 4 जनवरी से पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी धीरे-धीरे बढऩे लगेगी। साधारणत: नियमों के अनुसार अधिकतम दूरी होने पर न्यूनतम तापमान तथा निकटतम दूरी होने पर अधिकतम तापमान होना चाहिए, जबकि यह स्थिति बिल्कुल उल्टी होती है। जनवरी के महीने पर पृथ्वी सूर्य के निकटतम दूरी पर होती है।

उस समय उत्तरी गोलाद्र्ध में शीतकाल के स्थान पर ग्रीष्मकाल होना चाहिए। इसी तरह 4 जुलाई को शीतकाल के बजाय ग्रीष्मकाल होता है।


उन्होंने बताया कि वास्तव में यह स्थिति सूर्य की किरणों के तिरछेपन तथा दिन की अवधि पर निर्भर करता है। अपसौर की दशा में पृथ्वी को 7 फीसदी अधिक ताप प्राप्त होता है, जिससे उत्तरी गोलाद्र्ध में सात फीसदी कम ठंडक तथा दक्षिणी गोलाद्र्ध मे 7 फीसदी अधिक गर्मी पड़ती है।

उन्होंने बताया कि 4 जुलाई अपसौर की स्थिति होती है। पृथ्वी सूर्य से सर्वाधिक दूरी पर होता है। ऐसी स्थिति में उत्तरी गोलाद्र्ध में 7 फीसदी कम गर्मी एवं दक्षिणी गोलाद्र्ध में सात फीसदी अधिक सर्दी पड़ती है। इस दौरान सात फीसदी कम सूर्य का ताप प्राप्त होता है।


क्या है उपसौर और अपसौर
पृथ्वी की सूर्य से सबसे निकटतम दूरी 147 मिलियन किलोमीटर की है जिसे उपसौर के नाम से जानते हैं। पृथ्वी से सूर्य की अधिकतम दूरी 152 मिलियन किलोमीटर है, जिसे अपसौर कहते हैं।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned