पिटाई से बचने पत्नी छिप गई गन्ने के खेत में लेकिन दरिंदे पति ने ढूंढ लिया और दी खौफनाक मौत

rampravesh vishwakarma

Publish: Dec, 07 2017 09:24:34 (IST)

Ambikapur, Chhattisgarh, India
पिटाई से बचने पत्नी छिप गई गन्ने के खेत में लेकिन दरिंदे पति ने ढूंढ लिया और दी खौफनाक मौत

मृतिका के पिता ने दामाद पर लगाया दहेज के लिए प्रताडि़त करने और हत्या करने का आरोप, पुलिस ने निष्पक्ष जांच की मांग

अंबिकापुर. पति की पिटाई से बचने 3 दिन पूर्व पत्नी भागते हुए गांव के ही गन्ने के खेत में छिप गई थी। इसी बीच उसे खोजता हुआ पति पहुंचा और मिट्टी तेल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया। आग से गंभीर हालत में झुलसी पत्नी को मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इलाज के दौरान गुरुवार को उसकी मौत हो गई। मृतिका के माता-पिता ने पति पर दहेज के लिए मार डालने का आरोप लगाया है। उन्होंने मामले में पुलिस से निष्पक्ष जांच की मांग की है।


सरगुजा जिले के लुण्ड्रा थाना अंतर्गत ग्राम असकला निवासी प्रभु यादव से मैनपाट के ग्राम पैगा कमलेशवरपुर निवासी आरती यादव पिता भोला प्रसाद का ६ वर्ष पूर्व विवाह हुआ था। पति-पत्नी के बीच आए दिन विवाद होता था। इसकी वजह से परेशान होकर आरती यादव ससुराल से भागकर मायके कमलेश्वरपुर चली गई थी।

परिजनों की समझाइश पर वह वापस ग्राम असकला पति के पास लौट गई थी। ३ दिसंबर को रात 10.30 बजे आरती यादव से पति द्वारा मारपीट की गई। मारपीट के डर से वह भागकर गन्ने के खेत में छिप गई थी। शराब के नशे में धुत होकर प्रभु यादव ने उसे ढूंढ निकाला और उसपर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी।

आग से गंभीर रूप से झुलसने पर उसे मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। नाजुक स्थिति में उसका इलाज यहां चल रहा था। इसी बीच गुरुवार को उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरु कर दी है।


दहेज के लिए हत्या का लगाया आरोप
मृतिका के पिता भोला प्रसाद ने गुरुवार को लुण्ड्रा पुलिस को शिकायत करते हुए बताया कि प्रभु यादव हमेशा उसकी बेटी को दहेज के लिए प्रताडि़त करता था और अक्सर मारपीट करता था। इसकी वजह से उसने मिट्टी तेल डालकर आरती को मार डाला। उसने मामले की निष्पक्ष जांच कर दण्डात्मक कार्रवाई करने की मांग पुलिस से की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned